पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक का श्रेय किसी को नहीं लेना चाहिए : गडकरी

विस्तृत समाचार

जानिये होली में सेहत और शरीर को कैसे रखें सुरक्षित

Posted on : Mar 10 2017


जानिये होली में सेहत और शरीर को कैसे रखें सुरक्षित

इंडिया इमोशंस न्यूज, लखनऊ। रंगों के त्योहार होली की बहार है। हर तरफ उल्लास का वातावरण है। बाजारें,रंगों, गुलाल एवं खाने-पीने की चीजों से सज गया है। होली में खूबरंग खेलें, खूब गुलाल उडाएँ परन्तु बाजार मे ंसजे के मिलने वाले रंगों से बचें क्योंकि यह रंगआपकी होली को बेरंग करसकते हैं इसीलिए कुछ सावधानियाँ अपना कर होली मनाएं जिससे होली का रंग बदरंग न हो और होली की खुशियाँ बरकरार रहे।

होली मे ंहर व्यक्ति एक-दूसर ेको रंग लगाकर अपनी आत्मीयता का इजहार करता है परन्तु उसे यह नही ंमालूम कि जो रंग वह लगा रहा है वह रसायनिक रंग है जिससे त्वचा को नुकसान पहुँच सकता है, श्वास एवं एलर्जी की बीमारी हो सकती है। बाजार मे ंबिकने वाले हर ेरंग में तांबा, काले रंग में नाइट्रेटऑक्साइड, परपिल रंग क्रोमाइड, सिल्वर कलर में एल्युमिनियम ब्रोमाइड, लाल रंग मारकरी सल्फेट रसायनों से बनता है। यह सभी रसायनिक रंग त्वचा पर जलन खुजली, दाने, एलर्जी, एवंसांस की तकलीफ उत्पन्न कर सकते हैं जो आपकी होली को बदरंग कर सकते है इसलिए रंग खेलने में प्राकृतिक रंगों का प्रयोग ही करना चाहिए।

होली मे ंगुलाल भी खूब उड़ाया जाता है। बाजार में मिल रहे गुलाल में अवरक का इस्तेमाल होता है इसमें बालू तथा अन्य रसायन पड़े्रं रहते है इनसे दमा का प्रकोप हो सकता है, इससे त्वचा में जलन, खुजली की समस्या हो सकती है। त्वचा खुरदरी हो सकती है इसलिए हर्बल गुलाल का प्रयोग करना चाहिए। रंग के स्थान परपेंट, तारकोल, कीचड़ आदि का प्रयोग बिल्कुल न करे इससे त्वचा बदरंग हो सकती है। रंग खेलने से पहले शरीर पर तेल अवश्य लगा लें। रंग खेलते समय इन बातों पर जरूर ध्यान देना चाहिए-

ऽ रंग छुड़ाने के लिए उबटन का प्रयोग करना चाहिए रंग छुड़ाने के लिए बार-बार साबुन न रगड़़े
ऽ यदि त्वचा खुजली के साथ पानी निकले तो साफपानी से धुलें।
ऽ यदि ऑख मं रंग पड़ जाय ेतो रगड़े नही ंबल्कि साफपानी से धोएं।
ऽ रंग खेलते समय सिर पर टोपी जरूर लगाए एवं पूरेआस्तीन के कपड़ ेपहने।
ऽ गीले कपड़े ज्यादा देर ना पहनें।

होली के पर्व पर बाजार रंग-बिरंगी मिठाइयों सें सज गया है। मिठाइयों एवं अन्य खाने की चीजों जैसे खोया, दूध,पनीर मे ंमिलावटका खतरा हो सकता है इनमेंं रसायनिक तत्वों जैसे पेंट, यूरिया, निरमा, मिलावटी तेल आदि मिला रहता है जिससे पीलिया, पेटमेंजलन, संक्रमण, दस्त, उल्टी, गैस, पेटदर्द आदि की गंभीर समस्याएं हो सकती है इसलिए खाने-पीने की चीजें जांच-परखकर ही खरीदें। बाजार की बजाय घर की बनी चीजों का प्रयोग करें,ड्राई फ्रूट का ज्यादा इस्तेमाल करे।होली में शराब का नशा बहुत आम है। लोग भांग पीकर भी होली मनाते है इस उल्लासपूर्ण होली के पर्व को नशे का सेवन बेमजा कर सकता है। आइए इस उल्लासपूर्व रंगों के पर्व होली को सुरक्षित तरीके से मनाकरअपनी खुषियो ंम ेचार चांद लगाएं।

डॉ. अनुरूद्ध वर्मा
जनस्वास्थ्य के सरोकार से जुड़े
होम्योपैथिक चिकित्सक
मो नं. -9415075558

 



अन्य प्रमुख खबरे

खुद से बड़ी उम्र की लड़कियों के दीवाने हो जाते हैं लड़के, ये है वजह

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ बदलते जमाने में प्यार करने के अंदाज में भी काफी बदलाव आएं हैं और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है लड़कों का अपनी

ऐसे पता करें, आपको हो गया हैं प्यार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ प्यार अलग-अलग प्रकार का होता है और यह जानने का कोई एक भी तरीका नही है

पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से हो सकता है ऐसा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आप ज्यादातर रात्रि पाली में काम करते हैं? पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से मानव डीएनए की

मकर संक्रांति 2019 : खिचड़ी का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

इंडिया इमोशंस न्यूज मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है, जो सूर्य के उत्तरायण होने पर

सर्दी में इसलिए झडते हैं ज्यादा बाल, ये है कारण...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली

New Year 2019: समझें कैलेंडर का पूरा विज्ञान, क्यों बदलते हैं हर साल कैलेंडर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता

ऐसी महिलाएं भी हो सकती हैं डायबिटीज व दिल के दौरे की शिकार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आम तौर पर मोटापे को बीमारियों की जड़ माना जाता है। खास तौर से महिलाओं के लिए यह ज्यादा घातक होता है

चेहरे पर सुबह-सुबह क्यों आती है सूजन, जानिए क्या है कारण

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ अक्सर सुबह कभी कभी उठकर चेहरे को आईने में देखने पर सूजन दिखाई देता है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार