•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

लखनऊ: बहुखंडी बिल्डिंग की बैंक में लगी आग, 8 परिवार बाल-बाल बचे

Sep 21 2019

लखनऊ: बहुखंडी बिल्डिंग की बैंक में लगी आग, 8 परिवार बाल-बाल बचे

indiaemotions news network. लखनऊ। विकासनगर इलाके में शुक्रवार रात एक बहुखंडी बिल्डिंग स्थित बैंक में आग लगने से उसमे रह रहे परिवारों में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर पुलिस और फायरब्रिगेड के कर्मी मौके पर पहुंचे। फायर कर्मचारियों ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत करके आग को बुझाया। लेकिन बैंक में रखे लगभग दस्तावेज जल कर राख हो गये। आग लगने से कितना नुकसान हुआ है उसका आकलन फायर अधिकारी कर रहे है।

आगे पढ़े पूरा मामला

विकासनगर के मामा चौराहे स्थित धनश्री नामक रवि गुप्ता की चार मंजिला बिल्डिंग है। इस बिल्डिंग में नीचे वाहन खड़े करने के लिए पार्किंग हैं और ऊपर आठ परिवार रहते हैं। जबकि बिल्डिंग के प्रथम तल पर फिडरल बैंक है। बैंक के गार्ड अजय कुमार सिंह ने बताया, कि शुक्रवार रात आठ बजे तक बैंक के कर्मचारी काम करने के बाद चले गये। रात करीब नौ बजे बैंक से धुंवा निकलने लगा,जिसकी जानकारी उन्होंने बैंक मैनेजर अंनिकेत सिंह को देने के साथ-साथ फायरब्रिगेड और पुलिस को दी। सूचना पाकर विकासनगर पुलिस और इंदिरानगर फायर बिग्रेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची और फायर कर्मियों ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत करके आग को बुझाया। लेकिन तब तक बैंक का लगभग सामान जल कर राख हो गया।

वृद्धा ने सूझबूझ से बचाई पति की जान

चौथे तल पर रहने वाले पूर्व स्टेट बैंक के अधिकारी एसके दीवान ने बताया कि बिल्डिंग में आठ परिवार रहते है। वो मात्र अपनी पत्नी के साथ रहते हैं,जबकि उनके बच्चे विदेश में काम करते है। दो साल पूर्व उनके पैरालिसिस का का अटैक पड़ा था। इस लिए उनको चलने फिरने में तकलीफ है। शुक्रवार रात बैंक में आग लगने से सभी परिवारों के घरों में धुवां भरने से सास फूलने लगी। पत्नी ने साहस जुटा कर किसी तरह से उनको बिल्डिंग से नीचे उतारा,जिससे उनकी व पत्नी की जान बच सकी।

बिल्डिंग में नही उपलब्ध आग बुझाने के उपकरण

बुजुर्ग बैंक अधिकारी एसके दीवार ने बताया, कि बिल्डिंग मालिक रवि गुप्ता ने फ्लैट खरीदने के दौरान कहा था आग बुझाने जैसे आपातकालीन उपकरण लगवा देंगे। लेकिन वे अपने वादे पर खरे नही उतरे। अगर आग बुझाने के उपकरण लगे होते तो बैंक में लगी आग को तत्काल बुझाया जा सकता था। एसके दीवार ने बताया उनकी पत्नी की सूझबूझ से आज उनकी जान बच गई है।

बैंक में मात्र अग्नि बुझाने का एक सिलेंडर

ड्यूटी पर तैनात बैंक सिक्योरिटी गार्ड अजय कुमार सिंह ने बताया, कि आग बुझाने के लिए बैंक में मात्र एक छोटा सिलेंडर है। वह भी बैंक के अंदर रखा रहता है। जब वह बैंक से धुवां निकलते देखा, तो उसके पास शोर मचाने के अलावा कोई और रास्ता नही था।

क्या बोले फायर अधिकारी

मौके पर पहुंचे फायर अधिकारी ने बताया कि सूचना पाने के बाद उनके कर्मचारी दो गाड़ी लेकर मौके पर पहुंचे। सूचना मिलने के करीब 20 मिनट बाद उनके फायरकर्मी मौके पर पहुंच गये थे। फायरकर्मियों ने एक घंटे की कड़ी मेहनत कर बैंक की आग को बुझाया। आग लगने से कितना नुकसान हुआ है,उसका आकलन किया जा रहा है।