1984 सिख विरोधी दंगों के दोषी यशपाल को फांसी, नरेश को उम्रकैद | दिल्ली सचिवालय में CM केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला | सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव

विस्तृत समाचार

बुरा नहीं अच्छा है टीवी देखते हुए आंसू बहाना

Posted on : Nov 12 2018


बुरा नहीं अच्छा है टीवी देखते हुए आंसू बहाना

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ रोना और हंसना दोनों ही कुदरती भावनाएं हैं। इन भावनात्मक तरीकों से हम अपनी खुशी और दुख व्यक्त करते हैं। यह बात सही है कि जब कोई रोता है तो उसे दुखी समझा जाता है लेकिन आंखों से आंसूओं का निकलना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। बहुत लोग ऐसे हैं जो टीवी शो या फिर मूवी में इमोशनल सीन देखकर भावना में बह जाते हैं, उनकी आंखों से आंसू थमने का नाम ही नहीं लेते। वैज्ञानिकों और मनोवैज्ञानिकों के अनुसार अगर कोई ऐसा करता है तो इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है बल्कि यह अच्छी आदत है।

1. क्या कहती है रिसर्च?
शोध में बता चला है कि कुछ लोग अपने फेवरेट टीवी करेक्टर की भावनाओं के साथ पूरी तरह बंध जाते हैं। हमारा दिमाग वास्तविक और काल्पनिक चरित्रों में फर्क महसूस नहीं कर पाता। यही कारण उनकी हंसी मेें खुश और दुख में रोने लगते हैं। ऐसा करना बुरी बात नहीं बल्कि यह हमें भावनात्मक महसूस करवाते हैं।


2. बढ़ता है मनोबल
यूनिवर्सिटी ऑफ ओकलाहोमा (University of Oklahoma) में किए गए अध्ययन से पता चला है कि टीवी या फिल्म के पात्रों के साथ एकतरफा रिलेशनशिप रखने से मनोबल और आत्मविश्वास में बहुत सुधार होता है। जब लोग कोई रियलिटी शो देखते हैं तो अपने पसंदीदा प्रतियोगी की भावनाओं से पूरी तरह जुड़ जाते हैं। उनकी हार और जीत उनके लिए बहुत महत्व रखती हैं। इस तरह की स्थिति ‘meta-emotions’ का हिस्सा है।

3. इमोशनल क्राइंग के फायदे
आंसू तीन प्रकार के होते हैं रेफलेक्सिव, कंटीनिअस, इमोशनल। इनमें से इमोशनल क्राइंग बहुत ही फायदेमंद है।

4. रोने से मूड अच्छा
नीदरलैंड्स में हुई एक स्टडी के अनुसार, इमोशनल सीन देखने के 20 मिनट के भीतर रोने वाले लोग न रोने वाले लोगों के मुकाबले जल्दी में बेहतर महसूस कर रहे थे। उनका मूड बहुत जल्दी अच्छा हो गया।

5. घटता है तनाव
तनाव के दौरान उत्पन्न हुए कैमिकल्स रोने से बाहर निकल जाते हैं। इसके बाद इंसान अच्छा महसूस करने लगता है।

6. आंखें होती है सुरक्षित
इस तरह रोने से आंखों तक पहुंचा रसायन धुल जाता है। इससे आंसूओं की कोशिकाएं मजबूत होती हैं।

7. नाक की सेहत अच्छी
रोने के दौरान नाक भी बहने लगती है। जिससे नाक में जमा बैक्टीरिया और गंदगी बाहर निकल जाती है। इसके बाद इंसान खुल कर सांस लेने लगता है।



अन्य प्रमुख खबरे

एसिडिटी, पाचन, रक्तविकार सहित ये समस्याएं दूर करता है गुड़

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ ठंड के सीजन में गुड का अपना ही महत्व है

सर्दियों में करें सौंठ का इस्तेमाल, इन 5 परेशानियों से मिलेगा छुटकारा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सर्दी के मौमस में सभी खुद को बीमारियों से बचने और खुद को फीट रखने के लिए कुछ ना कुछ करते रहते हैं

पुरुषों की तुलना में महिलाओं को होता है ज्यादा सिरदर्द, जानिए 6 बड़ी वजह

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ पुरुषों की तुलना में महिलाएं सिरदर्द का अनुभव ज्यादा करती हैं

सर्दियों में ऐसे रखें अपनी स्किन का ख्याल

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सर्दियों का मौसम आते ही हमारी त्वचा के लिए मुश्किल घड़ी आ जाती है और इस दौरान सही देखभाल न होने पर त्वचा

रोजाना तुलसी वाला दूध पीने से आप रहेंगे हमेशा स्वास्थ्य...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ रोजाना तुलसी वाला दूध पीने से आपकी माइग्रेन और किडनी स्टोन की समस्या दूर हो जाती है

आंकड़े बताते हैं कि बच्चों में मोटापे को शुरुआत में रोकने से...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ एक नए शोध में खुलासा हुआ है कि मोटापे से बच्चों में दमा (अस्थमा) का खतरा बढ़ जाता है

हर रोज फ्रेश रहना चाहती हैं....

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हर रोज फ्रेश रहना चाहती हैं। चाहे मौसम कोई भी हो, पसीने की बदबू आपके आसपास भी न फटके

चुकंदर है रक्तशोधक व कई रोगों में लाभकारी

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हैल्दी जीवन जीना भला कौन चाहता। इसके लिए लोग तरह-तरह के उपाय भी करते हैं

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार