पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक का श्रेय किसी को नहीं लेना चाहिए : गडकरी

विस्तृत समाचार

ऐसे स्त्री, पुरूष में कामवासना का आवेग ज्यादा होगा

Posted on : Jan 06 2017


ऐसे स्त्री, पुरूष में कामवासना का आवेग ज्यादा होगा

-यदि शुक्र के साथ लग्नेश, चतुर्थेश, नवमेश, दशमेश अथवा पंचमेश की युति हो तो दांपत्य सुख यानि यौन सुख में वॄद्धि होती है वहीं षष्ठेश, अष्टमेश उआ द्वादशेश के साथ संबंध होने पर दांपत्य सुख में न्यूनता आती है.

-यदि सप्तम अधिपति पर शुभ ग्रहों की दॄष्टि हो, सप्तमाधिपति से केंद्र में शुक्र संबंध बना रहा हो, चंद्र एवम शुक्र पर शुभ ग्रहों का प्रभाव हो तो दांपत्य जीवन अत्यंत सुखी और प्रेम पूर्ण होता है.

-लग्नेश सप्तम भाव में विराजित हो और उस पर चतुर्थेश की शुभ दॄष्टि हो, एवम अन्य शुभ ग्रह भी सप्तम भाव में हों तो ऐसे जातक को अत्यंत सुंदर सुशील और गुणवान पत्नि मिलती है जिसके साथ उसका आजीवन सुंदर और सुखद दांपत्य जीवन व्यतीत होता है. (यह योग कन्या लग्न में घटित नही होगा)

-सप्तमेश की केंद्र त्रिकोण में या एकादश भाव में स्थित हो तो ऐसे जोडों में परस्पर अत्यंत स्नेह रहता है. सप्तमेश एवम शुक्र दोनों उच्च राशि में, स्वराशि में हों और उन पर पाप प्रभाव ना हो तो दांपत्य जीवन अत्यंत सुखद होता है|

-सप्तमेश बलवान होकर लग्नस्थ या सप्तमस्थ हो एवम शुक्र और चतुर्थेश भी साथ हों तो पति पत्नि अत्यंत प्रेम पूर्ण जीवन व्यतीत करते हैं.
-पुरूष की कुंडली में स्त्री सुख का कारक शुक्र होता है उसी तरह स्त्री की कुंडली में पति सुख का कारक ग्रह वॄहस्पति होता है. स्त्री की कुंडली में बलवान सप्तमेश होकर वॄहस्पति सप्तम भाव को देख रहा हो तो ऐसी स्त्री को अत्यंत उत्तम पति सुख प्राप्त होता है|

-जिस स्त्री के द्वितीय, सप्तम, द्वादश भावों के अधिपति केंद्र या त्रिकोण में होकर वॄहस्पति से देखे जाते हों, सप्तमेश से द्वितीय, षष्ठ और एकादश स्थानों में सौम्य ग्रह बैठे हों, ऐसी स्त्री अत्यंत सुखी और पुत्रवान होकर सुखोपभोग करने वाली होती है.पुरूष का सप्तमेश जिस राशि में बैठा हो वही राशि स्त्री की हो तो पति पत्नि में बहुत गहरा प्रेम रहता है| वर कन्या का एक ही गण हो तथा वर्ग मैत्री भी हो तो उनमें असीम प्रम होता है. दोनों की एक ही राशि हो या राशि स्वामियों में मित्रता हो तो भी जीवन में प्रेम बना रहता है|
-अगर वर या कन्या के सप्तम भाव में मंगल और शुक्र बैठे हों उनमे कामवासना का आवेग ज्यादा होगा अत: ऐसे वर कन्या के लिये ऐसे ही ग्रह स्थिति वाले जीवन साथी का चुनाव करना चाहिये.

 



अन्य प्रमुख खबरे

मान-सम्मान चाहिए तो अपनाएं ये आसान उपाय

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ फेंगशुई के उपाय भी ख्‍याति, पहचान और सम्‍मान में कारगर साबित होते हैं

लाल चींटियों के घर में आने से होता है ऐसा, इन संकेतों के बारे में भी जानिए

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हिंदू धर्म और शास्त्रों में कई ऐसे शुभ और अशुभ संकेतों के बारे में बताया गया है जिनसे आप भविष्य में होने

कर्ज से मुक्ति चाहिए तो शाम के समय भूलकर भी न करें ये काम

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ वास्तु शास्त्र में आर्थिक स्थिति को मजबूत और धन-संपत्ति बढ़ाने के लिए कुछ अचूक बातें बताई गई हैं

जानें, किस दिन पैसा देने से पैसा नहीं आता वापस

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ ज्योतिषाचार्यों के अनुसार वृद्धि नामक योग में कर्ज लेने से बचें क्योंकि नियमानुसार इस योग का कर्ज कभी

तुलसी के पौधे को इस दिशा में लगाने से आती है जीवन में अशुभता

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हर व्‍यक्ति के जीवन में शांति और सम्पन्नता का होना जरूरी है और सम्पन्नता के लिए लक्ष्मी का प्रसन्न

पाना है चिंता से मुक्ति तो करें यह उपाय

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आज के दौर में इतनी चिताएं हैं कि कभी कोई भी व्यक्ति बिना किसी चिंता या तनाव के रह ही नहीं सकता

महाशिवरात्रि 2019 : इन राशियों पर बरसेगी महादेव की कृपा, धन लाभ के मिलेंगे अवसर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ महाशिवरात्रि हिन्दुओ का एक प्रमुख पर्व है

इन जानवरों को पालने से होती है पैसों की तंगी दूर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ धन , यश प्राप्ति के लिए लोग क्या क्या नहीं करते, पूजा करते है, दान पुन के काम करते है लेकिन फिर भी उनके हाथ

भगवान की ऐसी किसी मूर्ति के दर्शन नहीं करने चाहिए, जिसमें...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ घर के मंदिर में भगवान की मूर्तियां रखकर पूजा अर्चना करने की परंपरा सदियों पुरानी है

फड़कते हुए अंगों से जान सकते हैं भविष्य में होने वाली घटना

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ समुद्र शास्त्र के अनुसार इंसान का शरीर बेहद संवेदनशील होता है और उसके पास ऐसी ताकत है जो होने वाली घटना

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार