शुभ कार्य से पहले या कोई भी पूजा करने से पहले तिलक किया जाता है और हाथों पर रक्षा सूत्र बांधते हैं फिर पूजा शुरू की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं ये रक्षा सूत्र क्यों बाधी जाती है।

-कलावा बांधने की परंपरा तब से चली आ रह"/> शुभ कार्य से पहले या कोई भी पूजा करने से पहले तिलक किया जाता है और हाथों पर रक्षा सूत्र बांधते हैं फिर पूजा शुरू की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं ये रक्षा सूत्र क्यों बाधी जाती है।

-कलावा बांधने की परंपरा तब से चली आ रह"/>

1984 सिख विरोधी दंगों के दोषी यशपाल को फांसी, नरेश को उम्रकैद | दिल्ली सचिवालय में CM केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला | सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव

विस्तृत समाचार

हम हाथ मे क्‍यों बांधते हैं मौली या कलावा

Posted on : Dec 28 2016


हम हाथ मे क्‍यों बांधते हैं मौली या कलावा

शुभ कार्य से पहले या कोई भी पूजा करने से पहले तिलक किया जाता है और हाथों पर रक्षा सूत्र बांधते हैं फिर पूजा शुरू की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं ये रक्षा सूत्र क्यों बाधी जाती है।

-कलावा बांधने की परंपरा तब से चली आ रही है, जब से महान, दानवीरों में अग्रणी महाराज बलि की अमरता के लिए वामन भगवान ने उनकी कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा था।

-इसे रक्षा कवच के रूप में भी शरीर पर बांधा जाता है।

-बताया जाता है कि इंद्र जब वृत्रासुर से युद्ध करने जा रहे थे तब इंद्राणी शची ने इंद्र की दाहिनी भुजा पर रक्षा-कवच के रूप में कलावा बांध दिया था और इंद्र इस युद्ध में विजयी हुए। उसके बाद से ये रक्षा सूत्र बांधा जाता है।

-वहीं इसके अनुष्ठान की बाधांए दूर हो जाती है। शास्त्रों का ऐसा मत है कि कलावा बांधने से त्रिदेव, ब्रह्मा, विष्णु व महेश तथा तीनों देवियों लक्ष्मी, पार्वती व सरस्वती की कृपा प्राप्त होती है।

-ब्रह्मा की कृपा से कीर्ति विष्णु की अनुकंपा से रक्षा बल मिलता है और शिव दुर्गुणों का विनाश करते हैं।

-इसी प्रकार लक्ष्मी से धन, दुर्गा से शक्ति एवं सरस्वती की कृपा से बुद्धि प्राप्त होती है। वहीं अगर वैज्ञानिक दृष्टि से देखें तो स्वास्थ्य के अनुसार रक्षा सूत्र बांधने से कई बीमारियां दूर होती है, जिसमें कफ, पित्त आदि शामिल है।

-शरीर की संरचना का प्रमुख नियंत्रण हाथ की कलाई में होता है, अतः यहां रक्षा सूत्र बांधने से व्यक्ति स्वस्थ रहता है। ऐसी भी मान्यता है कि इसे बांधने से बीमारी अधिक नहीं बढती है।

-ब्लड प्रेशर, हार्ट एटेक, डायबीटिज और लकवा जैसे रोगों से बचाव के लिये मौली बांधना हितकर बताया गया है।



अन्य प्रमुख खबरे

घर में गरीबी और दुर्भाग्य लेकर आती ये आदतें, कभी भी नहीं करें ऐसा...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हिन्दू धर्म में शास्त्रों का बड़ा महत्व माना गया है

पैसों की तंगी और कष्टों से मुक्ति के लिए शनिवार को करें ये उपाय

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हर इंसान अपने जीवन में सुख की चाहत जरूर रखता है। सुख की चाहत के लिए वो खूब मेहनत करता है

हाथों की अंगुलियां है ऐसी, जानिए कैसे होते है ये व्यक्ति

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ कहते है कि इंसान के हाथ की लकीरे देखकर उसके भविष्य के बारे में जान सकते है

सपने में शिवलिंग या सांप दिखे तो इसका क्‍या है मतलब, जानें...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हर सपने का विशेष महत्व होता हैं और सपने में दिखाई देने वाली चीजों का हमारे जीवन से गहरा संबंध होता हैं

आपकी असफलता का कारण हो सकती हैं ये चीजें, भूलकर भी ना करें ऐसा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ लगभग सभी लोगों की यही इच्छा रहती है कि उसके पास बहुत सारा धन हो जिससे वह अपना जीवन ठीक प्रकार से व्यतीत कर

तुलसी को आखिर क्यों मना है रविवार को छूना, भूलकर भी ना करें ऐसा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ भारत रीति और परंपराओं से परिपूर्ण देश है

घर के किचन में नहीं होनी चाहिए ये चीजें, हो सकते हैं ये नुकसान

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ घर में किचन का अहम हिस्सा होता है

करें ये आसान उपाय, देखें कैसे फटाफट संवरती है आपकी बिगड़ी तकदीर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ वास्तु क्या है, क्यों है, लोग क्यों इसे इतना महत्व देते है, ये बाते तो आप सभी जानते होंगे

आपके घर में हो रही है ऐसी परेशानियां,करें ये उपाय...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ भारतीय सभ्यता में हर दिन का अलग महत्व है। खासतौर से गुरुवार को तो धर्म का दिन मानते हैं

रात को घर में नहीं करें ये काम, आर्थिक तंगी का कारण है ऐसा करना...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली। हिंदू धर्म में ज्योतिष शास्त्र का बहुत महत्व है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार