समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का औपचारिक झंडा जारी, शिवपाल के साथ नेताजी को भी मिली जगह | रेवाडी दुष्कर्म: घटना साजिश का नतीजा, आरोपी 5 दिन के रिमांड पर

विस्तृत समाचार

क्‍यूं कुछ धार्मिक ग्रंथ मूर्ती की पूजा करने का विरोध करते हैं?

Posted on : Dec 20 2016


क्‍यूं कुछ धार्मिक ग्रंथ मूर्ती की पूजा करने का विरोध करते हैं?

इंडिया इमोशंस आस्था डेस्क, तिरुमाला।सीधे तौर पर हम मूर्ती की पूजा नहीं... मूर्ती, छवि या चित्र के माध्‍यम से हम भगवान की पूजा करते हैं, जो कि सर्वव्‍यापी है। छवि भगवान का प्रतीक है, यह हमारे दिमाग में भगवान की एक छवि बनाने में मदद करता है, जिससे हम उनकी मन लगा कर पूजा कर सकें।

उदाहरण के तौर पर एक मां अपने छोटे से बच्‍चे को तोते का चित्र दिखा कर उसे यह बताती है कि "यह एक तोता है"। जिससे कि वह बच्‍चा जान सके कि असल में तोता कैसा दिखाई देता है। एक बार बडे़ हो जाने के बाद बच्‍चे को पक्षियों को पहचानने के लिये चित्रों की जरुरत नहीं पड़ती।
इसी तहर से शुरुआत में मन को मदद करने के लिये कुछ उपकरणों की आवश्‍यकता होती है। एक बार जब इंसान आध्यात्मिक अभ्यास कर लेता है, तब उसके मन को मूर्ती या चित्र की आवश्‍यकता नहीं पड़ती। एक छवि पर फोकस कर के आप अपने दिमाग को केंद्रित करने में प्रशिक्षित करते हैं, जो कि एक अच्‍छा तरीका है।
हांलाकि हम यह नहीं कह सकते हैं कि भगवान मूर्ती या छवि में मौजूद नहीं हैं। भगवान हर जीव-जन्‍तु तथा निर्जीव चीजों में प्रकट हैं इसलिये वह छवि में भी मौजूद हैं।

छवि की पूजा करने से यह भी मतलब निकाला जा सकता है कि हर इंसान को हर जीव-जंतु से प्‍यार करना आना चाहिये और दुनिया में शांति फैलानी चाहिये। एक ईसाई यीशु की पूजा क्रॉस के माध्‍यम से करता है या फिर एक मुस्‍लिम अपनी नमाज़ काबा की ओर मुंह कर के पढ़ता है। छवि पूजा के नकारात्मक पक्ष यह होते हैं कि लोग यह समझने लगते हैं कि भगवान केवल मूर्ती में ही समाए हुए हैं। वह उसके पीछे के सिद्धांत को भूल जाता है। वह बार बार गल्‍तियां करता जाता है और मूर्ती के सामने माथा टेक कर छमा मांग लेता है।

कुछ धर्म जो छवि पूजा का विरोध करते हैं वास्‍तव में, वह भी किसी न किस रूप में मूर्ती पूजा जरूर करते हैं। 



अन्य प्रमुख खबरे

जानिए, सावन के महीने में नई शादीशुदा महिलाएं क्यों चली जाती हैं मायके

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सावन का महीना शुरू हो चुका है

अमरनाथ यात्राः जानिए, पवित्र गुफा का इतिहास और अमरत्व का रहस्य

इंडिया इमोशन्स न्यूज जम्मू-कश्मीर में श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा की महिमा निराली है

जानें, दीपक कब और कहां जलाने से होते हैं कौनसे फायदे

इंडिया इमोशन्स न्यूज भगवान की पूजा-आराधना करते समय अक्सर हम लोग पूजा की थाली में कपूर और दीपक जलाते हैं

माता सीता ने बताया, इस चमत्कारी मंत्र से मिलेगा मनचाहा Life partner

इंडिया इमोशंस न्यूज हिंदू धर्म ग्रथों में एेसे कई श्लोक दोहे तथा चौपाइयों आदि हैं जिन्हें मंत्र के रूप में प्रयोग किया जाता

अमीरों को भी कंगाल बना देते हैं ये काम

इंडिया इमोशन्स न्यूज भारत के महान विद्वानों में गिने जाने वाले महात्मा विदुर महाभारत के महत्वपूर्ण पात्रों में से एक हैं

जानें, दुनियां का सबसे बड़ा दानवीर कौन

इंडिया इमोशन्स न्यूज दान तन, मन, धन से होता है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि धन होने से दान हो

चमकता सफेद पत्थर, एक रात में दिखाएगा कमाल

इंडिया इमोशन्स न्यूज घर की रसोई में बहुत सारी ऐसी चीजें होती हैं, जिनमें कमाल के गुण होते हैं

परशुराम जयंती: जानें भगवान के छठे अवतार की वीरगाथा

इंडिया इमोशन्स न्यूज समस्त सनातन जगत के आराध्य भगवान विष्णु जी के छठे अवतार भृगुकुल तिलक, अजर, अमर, अविनाशी, अष्ट चिरंजीवियों

फिर गूजेंगी शहनाइयां,18 अप्रैल से शुरू होंगे शादी के मुहूर्त

इंडिया इमोशन्स न्यूज शहर में शादी समारोह की दावतें फिर शुरू हाेने जा रही हैं। एक महीने बाद फिर से शहनाइयां गूजेंगी

देशभर में आज मनाई जा रही है हनुमान जंयती, मंदिरों में लगा भक्तों का तांता

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली। देशभर में आज हनुमान जयंती बड़ी ही धूमधाम से मनाई जा रही है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार