1984 सिख विरोधी दंगों के दोषी यशपाल को फांसी, नरेश को उम्रकैद | दिल्ली सचिवालय में CM केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला | सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव

विस्तृत समाचार

तीन करोड़ के लेनदेन में पार्टनर ने मारी गोली, ट्रामा में भर्ती

Posted on : Mar 18 2018


तीन करोड़ के लेनदेन में पार्टनर ने मारी गोली, ट्रामा में भर्ती

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ लखनऊ। विभूतिखंड में तीन करोड़ के लेनदेन में उपजे विवाद से पार्टनर शराब व्यवसाई ने अपने पार्टनर के आफिस में जाकर गोली उसको मार दी और वहां से भागने लगा। लेकिन कार्यालय का स्टाप ने दौड़ा कर पिस्टल समेत उसको पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। साथ ही शराब व्यवसाई का चालक कार लेकर साथ में आया,वह भी भागते समय पकड़ा गया। उधार सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस घायल को ट्रामा में भर्ती कराया है। जहां घायल की हालत नाजुक बनी हुई है।

 

आगे पढ़े पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक मूल रूप से देवरिया के सदर के रहने वाले आशुतोष जायसवाल के पिता ओमप्रकाश जायसवाल पूर्व एमएलसी और माँ कृष्णा देवी जायसवाल देवरिया जिले की जिला पंचायत अध्यक्ष रही हैं। आशुतोष का आजमगढ़ में शराब का कारोबार है और वह गोमतीनगर विस्तार स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट के फ्लैट में रहता है।

 

दिल्ली में पार्टनर से हुई थी मुलाकात

मूल रूप से देवरिया के शोनू घाट निवासी दुर्गेश तिवारी दिल्ली के पंजाबी बाग में रह कर टाइल्स का कारोबार करता था। उस दौरान आशुतोष और दुर्गेश की मुलाकात हुई थी। दोनों एक जिले के होने के नाते दोस्ती हो गयी और दिल्ली में कारोबार बंद करके दुर्गेश गोमतीनगर के यमुना अपार्टमेंट में आ कर रहने लगा। उसके बाद दुर्गेश आशुतोष के साथ मिलकर यहां भी टाइल्स का शोरूम खोलकर कारोबार करने लगा। आशुतोष ने बताया शराब का कारोबार होने के नाते वह टाइल्स के शोरूम पर बहुत कम बैठ पाता था। लेकिन सन् 2015 में नोटबंदी के चलते कारोबार चौपट हो जाने से काफी नुकसान हुआ था। इससे शोरूम को बंद करना पड़ा,लेकिन करोड़ों का सामान शोरूम में बंद था।

 

नये दोस्त के साथ फिर शोरूम खोला दुर्गेश

कुछ दिनों तक दुर्गेश तिवारी बैठा रहा उसके बाद गोमती नगर निवासी गौतम रावत के साझेदारी में विभूतिखंड थाने से करीब 50 मीटर दूर टाइल्स का शोरूम खोल लिया और आशुतोष के साझेदारी वाला बंद पड़ा सामान नये शोरूम में शिप्ट कर लिया। उस बंद पड़े सामान में तीन करोड़ रुपयों हिस्सा आशुतोष का भी था,लेकिन दुर्गेश पूरा सामान उठा लाये थे। इसी को लेकर दोनों में कई बार पंचायत भी हुई।

 

शोरूम में जाकर मारी गोली

शनिवार शाम करीब 5 बजे आशुतोष अपने चालक संतराम के साथ कार से दुर्गेश के शोरूम पहुंचा और रुपयों के हिसाब-किताब की बातें होने लगी। इस बीच दोनों में विवाद हो गया और आशुतोष अपनी लाइसेंसी पिस्टल से दुर्गेश के माथे पर गोली मार दी और पिस्टल लहराते हुए वहां से पैदल भाग निकला। लेकिन आफिस का स्टाप घेर कर उसे पिस्टल के साथ पकड़ लिया और पुलिस को सूचना देकर सुपुर्द कर दिया। उधर कार लेकर भाग रहे चालक संतराम को पुलिस ने पकड़ लिया और कार समेत उसको थाने ले आये। इंस्पेक्टर विभतिखंड का कहना है,दुर्गेश और उसके नौकर को हिरासत में लेकर पूंछतांछ की जा रही है और दुर्गेश की ट्रामा में हालत नाजुक बनी हुई है।



अन्य प्रमुख खबरे

उरई में दरोगा ने जीआरपी बैरक में खुद को गोली से उड़ाया, हालत गंभीर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ जीआरपी के दरोगा ने सोमवार को देर रात बैरक में सर्विस पिस्टल से खुद को गोली मार ली

हमारे पास फौजी जीतू को हत्यारोपी साबित करने के सबूत नहीं : एसटीएफ

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ एसटीएफ के एसएसपी अभिषेक सिंह ने स्वीकारा है कि फौजी जीतू (Fauji Jeetu) को हत्यारोपी साबित करने के लिए हमारे पास

भाजपा नेता प्रत्यूष हत्याकांड में नया मोढ़,खुद करवाये थे हमला

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ लखनऊ।भाजपा नेता प्रत्यूष हत्याकांड में सोमवार को एक नया आया नया मोड़ आया है

महागठबंधन की बैठक में मायावती और अखिलेश ने किया किनारा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ लखनऊ। भाजपा के खिलाफ एकजुट होने के प्रयास में लगे विपक्ष को झटका लगने वाला दिख रहा है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार