•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

कानपुर : गंगा स्नान करते समय सेना के जवान की मौत, शोक में डूबा पूरा गांव

Aug 12 2019

कानपुर : गंगा स्नान करते समय सेना के जवान की मौत, शोक में डूबा पूरा गांव
रोहित यादव की फाइल फोटो

इंडिया इमोशंस न्यूज कानपुर के सलेमपुर टूटाघाट में सोमवार सुबह नहाने के दौरान सेना का जवान डूब गया। साथ में मौजूद दोस्तों ने पुलिस और परिजनों को हादसे की जानकारी दी। सूचना पर चौबेपुर पुलिस तो मौके पर पहुंच गई, लेकिन करीब साढ़े पांच घंटे तक पुलिस और जिला प्रशासन गोताखोरों का इंतजाम नहीं कर सकी। इससे परिजनों और क्षेत्र के लोगों ने आक्रोश जताने के साथ ही हंगामा किया।

चौबेपुर के भाऊपुर माधव सिंह के रहने वाले रोहित कुमार यादव (24) सेना में जवान हैं, मौजूदा समय में उनकी तैनाती अरुणांचल प्रदेश के चाइना बॉर्डर पर थी। पिता फूल सिंह यादव ने बताया कि सोमवार सुबह बेटा गांव के दोस्त और पारिवारिक सदस्य मधुकर यादव, मुलायम सिंह यादव, रोहित और भैरव के साथ सलेमपुर गांव के पास टूटाघाट पर गंगा नहाने गया था। दोस्त मुलायम के मुताबिक रोहित तैरना नहीं जनता था और गहराई में जाने के चलते अचानक डूबने लगा। तेज बहाव होने के चलते कुछ ही देर में लापता हो गया। दोस्त को डूबता देख सभी ने शोर मचाया और पुलिस को सूचना दी। चौबेपुर पुलिस तो मौके पर पहुंच गई लेकिन साढ़े पांच घंटे बाद भी पुलिस और जिला प्रशासन की ओर से गोताखोरों की टीम नहीं पहुंच सकी। इस बात को लेकर परिजनों और गांव के लोगों ने जमकर हंगामा किया।

बिल्हौर सीओ ने बताया कि पीएसी से गोताखोरों की टीम को बुलाया गया है। जल्द ही गोताखोरों की एक टीम पहुंचकर डूबे जवान की तलाश करेगी। घाट पर मौजूद गोताखोरों को भी तलाश में लगाया गया है।

बहन और परिजन रो-रो कर हुए बेहाल
रक्षाबंधन होने के चलते रोहित 22 जुलाई को छुट्टी लेकर घर पहुंचा था और 22 अगस्त को जाना था। भाई के डूबने की खबर मिलते ही बहन ज्योति, मां शशि और छह नवविवाहिता पत्नी मोनी अचेत हो गईं। परिवार और गांव के लोगों ने किसी तरह सभी को संभाला। छह महीने पहले ही रोहित की शादी हुई थी।

इकलौता बेटा है सेना का जवान
रोहित अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। बेटे के डूबने की खबर मिलते ही पूरा परिवार बदहवास हो गया। साथ में गंगा नहाने गए दोस्त भी सहमें हुए हैं। गांव के सैकड़ों लोग घाट पर पहुंचे और जनप्रतिनिधियों से गोताखोर बुलाने के लिए मदद की गुहार लगाई।