पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक का श्रेय किसी को नहीं लेना चाहिए : गडकरी

विस्तृत समाचार

यहां सुहागरात के समय कमरे के बाहर बैठती है पूरी पंचायत, जानिए कारण

Posted on : Feb 02 2018


यहां सुहागरात के समय कमरे के बाहर बैठती है पूरी पंचायत, जानिए कारण

इंडिया इमोशंस न्यूज शादी-ब्याह,जन्म-मरण आदि से जुड़ी दुनिया भर में अलग-अलग परंपराएं निभाई जाती हैं। आजकल वैसे तो जमाना बहुत मॉडर्न हो गया है लेकिन कुछ कबिले या संप्रदाय आज भी ऐसे हैं, जहां पर बरसों पुराने रीति-रिवाज आज भी पहले की ही तरह निभाए जाते हैं। जिनके बारे में जानकर कई बार हम लोग भी हैरान रह जाते हैं। आज हम जिस रिवाज की बात कर रहे हैं उसमें शादी के बाद यानि सुहागरात को लड़की-लड़की के कमरे के बाहर सारा गांव इकट्ठा होकर बैठ जाता है। आइए जानें क्या है इसके पीछे की वजह।

शादी के बाद लड़का-लड़की को एक साथ समय बिताने के लिए अकेले छोड़ दिया जाता हैं ताकि वह एक-दूसरे को अच्छी तरह से समझ सकें। वहीं कुछ लोग तो शादी के बाद हनीमून मनाने के लिए भी चले जाते हैं। इसी बीच हमारे देश में कंजरभाट नाम का एक समुदाय भी है, जहां पर लोग नव विवाहित जोड़ी को अकेला छोड़ने की बजाए पूरा गांव उनके कमरे के बाहर खड़ा रहता है। इन लोगों के अनुसार ऐसा लड़की के कौमार्य का निरिक्षण करने के लिए ऐसा किया जाता है। लड़की इस समय अगर वर्जिन साबित हो जाती है तो उसे बहू स्वीकार कर लिया जाता है वरना उसके साथ जानवरों से भी खराब व्यवहार किया जाता है।



ये लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में बसे हुए हैं। पढ़े-लिखे होने के बावजूद भी आज के जमाने में भी यह समुदाय इस अजीब परंपरा को निभा रहा है। ये लोग शादी के बाद लड़का-लड़की के लिए एक कमरा बुक करवा देते हैं, इसके साथ ही उन्हें संबंध बनाने के लिए सफेद रंग की चादर दी जाती है। समुदाय का मुखिया इस दौरान कमरे के बाहर ही रहता है। लड़की को इस समय गहने उतारने की सलाह दी जाती हैं ताकि चादर पर गहनों के कारण आई खरोंच के कारण किसी तरह का कोई दाग न लग जाए। दूल्हा कमरे के बाहर खड़ी पंचायत और मुखिया को चादर सौंप देता है। अगर इस पर खून के दाग लगे हो तो लड़की का कौमार्य साबित हो जाता है। ऐसा न होने पर लड़की को पीटा जाता है, उसे चरित्रहीन समझ कर जानवरों जैसा व्यवहार किया जाता है। चौेकाने वाली बात यह है कि इस समुदाय में लड़को को सही साबित करने के लिए किसी भी तरह का कोई टेस्ट नहीं देना पड़ता। यह परंपरा सिर्फ लड़कियों के लिए ही है।



अन्य प्रमुख खबरे

खुद से बड़ी उम्र की लड़कियों के दीवाने हो जाते हैं लड़के, ये है वजह

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ बदलते जमाने में प्यार करने के अंदाज में भी काफी बदलाव आएं हैं और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है लड़कों का अपनी

ऐसे पता करें, आपको हो गया हैं प्यार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ प्यार अलग-अलग प्रकार का होता है और यह जानने का कोई एक भी तरीका नही है

पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से हो सकता है ऐसा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आप ज्यादातर रात्रि पाली में काम करते हैं? पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से मानव डीएनए की

मकर संक्रांति 2019 : खिचड़ी का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

इंडिया इमोशंस न्यूज मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है, जो सूर्य के उत्तरायण होने पर

सर्दी में इसलिए झडते हैं ज्यादा बाल, ये है कारण...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली

New Year 2019: समझें कैलेंडर का पूरा विज्ञान, क्यों बदलते हैं हर साल कैलेंडर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता

ऐसी महिलाएं भी हो सकती हैं डायबिटीज व दिल के दौरे की शिकार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आम तौर पर मोटापे को बीमारियों की जड़ माना जाता है। खास तौर से महिलाओं के लिए यह ज्यादा घातक होता है

चेहरे पर सुबह-सुबह क्यों आती है सूजन, जानिए क्या है कारण

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ अक्सर सुबह कभी कभी उठकर चेहरे को आईने में देखने पर सूजन दिखाई देता है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार