•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

गुरूगोविन्द सिंह मार्ग से नाका चौराहा होते हुए DAV Collage तक तीन लेन Flyover का लोकार्पण

Oct 20 2020

गुरूगोविन्द सिंह मार्ग से नाका चौराहा होते हुए DAV Collage तक तीन लेन Flyover का लोकार्पण
symbolicphoto

india emotions news network, lucknow. लखनऊ। लखनऊ जैसे तेजी से बढ़ते हुए महानगर में ट्रैफिक का दबाव आबादी के बढ़ने की रफ्तार से भी अधिक तेजी से बढ़ रहा है। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि इस शहर का Infrastructure Upgradation भी तेज गति से होता रहे। आज गुरूगोविन्द सिंह मार्ग से नाका चौराहा होते हुए डी.ए.वी. कालेज तक तीन लेन फ्लार्इओवर का लोकार्पण किया जा रहा है जिसकी कुल लम्बार्इ लगभग 1.5 कि.मी. है और रू. 133 करोड़ से इसका निर्माण पूरा हुआ है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कोर्इ भी शहर आवागमन में जितना तेज होगा उसकी आर्थिक उन्नति उतनी ही तेज गति से होती है। इसी दृष्टि से शहर के चारो ओर 104 कि.मी. और 8 लेन वाली आउटर रिंग रोड का निर्माण प्रारम्भ कराया गया। इस पर तेजी से काम चल रहा है, दिसम्बर 2021 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

लखनऊ से सुल्तानपुर रोड चार लेन बनवार्इ गयी। लखनऊ-कानपुर के बीच एक्सप्रेस-वे स्वीकृत करार्इ गयी। लखनऊ-हरदोर्इ-शाहजहांपुर-बलिया एन.एच. 731 घोषित करके चार लेन चौड़ीकरण का कार्य प्रारम्भ कराया गया। 5 कि.मी. लम्बा 6 लेन कुकैरल फ्लार्इओवर बनवाया गया। शहर के अंदर 6-7 अन्य फ्लार्इओवरों का निर्माण प्रारम्भ कराया गया ताकि पूरा शहर जाममुक्त
हो सके और तेज विकास की ओर आगे बढ़ सके।

आज लोकार्पण किये जा रहे फ्लार्इओवर के नीचे बांसमण्डी चौराहा में हर समय जाम लगा रहता था क्योंकि इससे होकर विधानसभा क्षेत्र से पुराने लखनऊ को भारी संख्या में वाहनों का आवागमन होता था। वहीं दूसरी ओर कैसरबाग, अमीनाबाद, लाटूस रोड के व्यावसायिक क्षेत्रों से चारबाग रेल और बस
स्टेशनों के लिए भारी आवागमन था। अब पुराने शहर जाने वाला ट्रैफिक फ्लार्इओवर से निकलने के कारण नीचे चौराहे से हर समय आवागमन बिना रूके हुए चलता रहेगा।

इसी प्रकार नाका चौराहे से होकर मेडिकल कालेज, रकाबगंज, गणेशगंज का ट्रैफिक चारबाग के लिए
भारी संख्या में चलता था और हमेशा यहां जाम रहता था। फ्लार्इओवर बनने के बाद अब नीचे चौराहे से ट्रैफिक बिना रूके आ-जा सकेगा। जाम से मुक्ति मिलेगी, समय बचेगा और इसके फलस्वरूप बांसमण्डी चौराहा से नाका चौराहा तक और लाटूस रोड, अमीनाबाद, कैसरबाग आदि में व्यावसायिक गतिविधियों में तेजी आयेगी। आर्थिक उन्नति होगी।

आज ही हैदरगंज तिराहे से राजाजीपुरम तक 908 मीटर लम्बे लगभग 65 करोड़ की लागत से निर्मित दो लेन फ्लार्इओवर का भी लोकार्पण हो रहा है। यह मार्ग पुराने शहर में बड़ा एवं छोटा इमामबाड़ा, मेडिकल कालेज एवं अन्य पर्यटन स्थलों को राजाजीपुरम, तालकटोरा- करबला, आलमबाग व आलमनगर रेलवे स्टेशन से जोड़ता है वहीं बुलाकी अड्डे चौराहे से बुद्धेश्वर मंदिर होता हुआ मोहान
रोड एवं आगरा एक्सप्रेस-वे को भी जोड़ता है जिससे यहां हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती थी।

इस ब्रिज के बन जाने के बाद राजाजीपुरम, हैदरगंज, चौक, नक्खास, टूड़ियागंज, चारबाग, आलमबाग, आर.डी.एस.ओ. और आलमनगर रेलवे स्टेशन आना-जाना सुगम होगा और बहुत समय बचेगा। चूँकि यह सघन आबादी वाले क्षेत्र हैं इसलिए यहाँ पर फ्लाईओवर के नीचे के
मार्ग पर भी ट्रैफिक सुचारू रहे यह भी जरुरी है। इसलिए मुख्यमंत्री जी से मैं यही कहूँगा कि दोनों फ्लाईओवर के नीचे के रास्तों की भी पूरी मरम्मत हो जाये तो अच्छा रहेगा।

दोनो फ्लार्इओवरों के नीचे अवैध कब्जे न हों इसके लिए सेन्ट्रल वर्ज में लोहे के ग्रिल लगाकर सहित सुन्दर पेड़ पौधे लगाया जाना आवश्यक है। इस
हेतु महापौर और नगर आयुक्त से मैं कहूंगा कि नगर निगम की कार्य योजना के
अनुरूप इसकी व्यवस्था करा दें। यह स्थानीय बाजार वालों की भी मांग है। आज शहर को तेजी प्रदान करने वाले कार्यों की श्रृंखला में कुकरैल फ्लार्इओवर के बाद इस दूसरी कड़ी को सभी नगर वासियों को सौंपते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है और इस अनुपम कार्य हेतु मैं सेतु निगम के अधिकारियों
एवं कर्मचारियों को विशेष बधार्इ एवं धन्यवाद देता हूँ।


-दिवाकर त्रिपाठी
सांसद प्रतिनिध लखनऊ