इंडिया इमोशंस न्यूज नेटवर्क, लखनऊ/ हाथरस। जिस खेत में 19 साल की दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप की वारदात को एक महीने पहले हुई थी। फसल खराब हो जाने के कारण खेत मालिक सरकार पचास हजार रुपयों के मुआवजे क"/>

इंडिया इमोशंस न्यूज नेटवर्क, लखनऊ/ हाथरस। जिस खेत में 19 साल की दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप की वारदात को एक महीने पहले हुई थी। फसल खराब हो जाने के कारण खेत मालिक सरकार पचास हजार रुपयों के मुआवजे क"/>

  •   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

हाथरस कांड: किसान ने सरकार से खराब हुई फसल के एवज में 50 हजार का रूपयों का मुआवजा मांगा

Oct 19 2020

हाथरस कांड: किसान ने सरकार से खराब हुई फसल के एवज में 50 हजार का रूपयों का मुआवजा मांगा
खेत मालिक सोम सिंह

इंडिया इमोशंस न्यूज नेटवर्क, लखनऊ/ हाथरस। जिस खेत में 19 साल की दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप की वारदात को एक महीने पहले हुई थी। फसल खराब हो जाने के कारण खेत मालिक सरकार पचास हजार रुपयों के मुआवजे की मांग की है। खेत मालिक का कहना है कि इस घटना के बाद उसकी बाजरे की फसल में पुलिस ने पानी नहीं लगाने दिया। जिससे उसकी फसल खराब हो गई है। सरकार के निर्देश पर 3 सदस्यीय एसआईटी जांच कर चुकी है। अब सीबीआई की जांच जारी है।

किसान का कहना है कि पुलिस काफी दिन तक सबूत होने की बात कहती रही, जिससे फसल की सिंचाई नहीं हो पाई। सीबीआई अब कह रही है कि फसल काट सकते हो, लेकिन फसल टूट गई है। हमारा करीब कम 50 हजार का नुकसान हुआ है। जिसकी भरपाई सरकार करे।

खेत मालिक सोम सिंह ने बताया कि, वह जयपुर में नौकरी करता है, लेकिन कोरोना की वजह से गांव लौट पाया था। 9 बीघे के खेत में बाजरा लगाया था। घटना के बाद पुलिस ने सबूत जुटाने की बात कहकर मेरी मां को पानी लगाने से मना कर दिया। कहा गया कि यदि फसल की सिंचाई की गई, तो सबूत खत्म हो जाएंगे। इसलिए समय पर सिंचाई नहीं हो सकी, जिससे फसल में दाना नहीं बना।

हमारी 6 महीने की फसल है, लेकिन इस घटना के बाद मेहनत बेकार हो गई। हम किसानी और पशुओं के भरोसे ही जीवनयापन करते हैं। ऐसे में हमें नुकसान हुआ है। हमारी सरकार मदद करे। किसान ने यूपी सरकार से 50 हजार रुपयों की मुआवजे के रुप में मांग की है।