•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

500 श्रमिक स्पेशल गाड़ियों से लगभग पाॅच लाख चालीस हजार श्रमिक यात्रियों का आगमन: भारतीय रेल

Jun 04 2020

500 श्रमिक स्पेशल गाड़ियों से लगभग पाॅच लाख चालीस हजार श्रमिक यात्रियों का आगमन: भारतीय रेल

India Emotions News Network, Lucknow. देश के अन्य राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश, झारखण्ड एवं बिहार के प्रवासी मजदूरों, छात्रों, पर्यटकों, तीर्थयात्रियों एवं अन्य व्यक्तियों को अपने गृह राज्यों तक पहुंचाने के लिए, राज्य सरकारों के अनुरोध पर विशेष ट्रेनें चलायी जा रही हैं।

भारतीय रेल द्वारा सम्बंधित राज्य सरकारों से पारस्परिक सामंजस्य स्थापित करते हुए प्रवासी श्रमिको को श्रमिक स्पेशल टेªनों के माध्यम से उनके गंतव्य तक पहुँचाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।


पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। मण्डल रेल प्रबन्धक डा. मोनिका अग्निहोत्री के कुशल नेतृत्व में श्रमिक स्पेशल से आने वाले श्रमिकों एवं उनके परिवारजनांे को मण्डल के लखनऊ जं. गोरखपुर जं., बस्ती, गोण्डा जं. बलरामपुर एवं सीतापुर स्टेशनों पर स्थानीय प्रशासन के सहयोग से सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर उनके गंतव्य स्थानों तक सकुशल पहुँचाने का कार्य पूर्ण निष्ठा एवं प्रतिबद्धता के साथ किया जा रहा है।


आज लखनऊ मण्डल के गोरखपुर जं. स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन सं. 07323 बेंगलुरू सिटी-गोरखपुर का आगमन दोपहर 15.10 बजे हुआ। यह टेªन गोरखपुर जं0 स्टेशन पर पहुॅचनें वाली 300वीं श्रमिक स्पेशल टेªन है। अब तक गोरखपुर जं0 स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल टेªनों के माध्यम से लगभग तीन लाख प्रवासी यात्रियों का आगमन हो चुका है।

अभी तक मण्डल के लखनऊ जं0 स्टेशन, बस्ती स्टेशन, गोण्डा जं0 स्टेशन, बलरामपुर स्टेशन, सीतापुर स्टेशन एवं गोरखपुर जं0 पर कुल 500 श्रमिक स्पेशल गाड़ियों से लगभग पाॅच लाख चालीस हजार श्रमिक यात्रियों का आगमन हो चुका है।


लखनऊ मंडल द्वारा चरणबद्ध तरीके से चिकित्सीय परीक्षण एवं सुरक्षा के कड़े इन्तेजामों के तहत स्टेशन पर रेलवे अधिकारी, सुपरवाइजर, टिकट चेकिंग स्टाफ, रेलवे सुरक्षा बल, जी०आर०पी० तथा राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के सदस्य मुस्तैदी से तैनात है। यात्रियों को टेªन से उतारते समय सामाजिक दूरी का पालन कराने के लिए प्लेटफार्म पर बेरिकेटिंग के साथ, एक -एक मीटर की दूरी पर मार्किंग की गयी है। इसके अतिरिक्त पब्लिक अनाउंसमेंट सिस्टम द्वारा निर्देशों की लगातार उद्घोषणा भी की जा रही है।

मेडिकल टीम द्वारा टेªन से उतरने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग के पश्चात उनका विवरण रजिस्ट्रेशन काउंटर पर दर्ज किया जा रहा है। जहाँ से उन्हें सीधे जिला प्रशासन द्वारा बसों के माध्यम से अपने गंतव्य स्थान में भेजा जा रहा है।