•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

ओमेक्स सिटी महाप्रबंधक समेत चार पर ठगी का मुकदमा दर्ज, बंधक पड़ी जमीन पर करोड़ों रुपए की करी ठगी

Jun 26 2020

ओमेक्स सिटी महाप्रबंधक समेत चार पर ठगी का मुकदमा दर्ज, बंधक पड़ी जमीन पर करोड़ों रुपए की करी ठगी
न्यायालय के आदेश पर हुआ मुकदमा दर्ज

 

India Emotions News Network, Lucknow. आशियाना थाना की पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर शुक्रवार को करोड़ों रुपए की ठगी के मामले में ओमेक्स सिटी के महाप्रबंधक समेत एक अन्य कम्पनी के महाप्रबंधक व तीन अन्य पर नामजद बैंक में बंधक पड़ी व्यवसायिक जमीन को साफ सुथरा बिना किसी विवाद दिखाकर करोड़ों रुपए की ठगी किये जाने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

आशियाना थाना प्रभारी संजय राय ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि थाना क्षेत्र के सेक्टर आई एम आई जी 903 में रहने वाले पेशे से लखनऊ विकास प्राधिकरण के ठेकेदार विरेन्द्र प्रताप सिंह पुत्र द्वारिका सिंह के वाद 156/3 के तहत न्यायालय के आदेश पर मोनार्क विलाज प्राइवेट लिमिटेड, ओमेक्स सिटी लिमिटेड, महाप्रबंधक जनक गोयल व जे आर एस प्रो प्राइवेट लिमिटेड में महाप्रबंधक किशोर गोयल व ओमेक्स सिटी लिमिटेड अधिकृत हास्ताक्षर काजी न साईदुदरहमान समेत कर्मचारी अमित नेगी व अंकित गर्ग पर वर्ष 2019 में लगभग एक बीघा जिसका खसरा संख्या 1213, 1218, 1223, 1224, 1225 व 1598 जो कि जम्मू एण्ड कश्मीर दिल्ली शाखा में 2018 से बंधक है इसके बावजूद पीड़ित को लोन का बिना अवगत कराएं इन लोगों द्वारा विक्रय कर करोड़ों रुपए ठगी करने का आरोप है। जिसपर न्यायालय के आदेश पर सभी लोगों पर नामजद धोखाधड़ी व अमानत में ख़यानत का मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं पीड़ित विरेन्द्र प्रताप का आरोप है कि उसने फरवरी 2019 में एक बीघा जमीन का बैनामा काराया था उक्त जमीन पर जब कोटेक महिन्द्रा बैंक में आवेदन किया तो बैंक द्वारा जानकारी मिली कि जमीन पर अक्टूबर 2018 से ही जे एण्ड के बैंक दिल्ली शाखा से भूमि बंधक पड़ी है। ठगी होने का एहसास होने पर स्थानीय थाना समेत पुलिस आयुक्त से लिखित शिकायत की लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही न किये जाने पर न्यायालय के शरण में जाना पड़ा । वहीं स्थानीय आशियाना पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।