समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का औपचारिक झंडा जारी, शिवपाल के साथ नेताजी को भी मिली जगह | रेवाडी दुष्कर्म: घटना साजिश का नतीजा, आरोपी 5 दिन के रिमांड पर

विस्तृत समाचार

हिन्दु-मुस्लिम एकता का ऐसा दरबार जहॉ शैतानी ताकते होती है नतमस्तक

Posted on : Jul 29 2017


हिन्दु-मुस्लिम एकता का ऐसा दरबार जहॉ शैतानी ताकते होती है नतमस्तक

indiaemotions, लखनऊ। राजधानी में वैसे तो कई जगह देवी देवताओं के मंदिर मस्जिद है जहां उनका दरबार लगता है। लेकिन राजधानी के एलडीए कालोनी, कानपुर रोड़ स्थित बाबा सोनकर के यहां एक दरबार लगता है। जहां बुरी ताकतों से परेशान लोगों के साथ साथ बुरी ताकते भी नतमस्तक होती है। कहते है कि हमेशा नेक लोगों को परेशान करने के लिऐ बुरी ताकते हर सम्भव प्रयास करती रहती है। बुरी ताकतों से परेशान लोग कभी भगवान के दर जाते है तो कभी पीर पैगम्बर के दर जा कर फरियाद करते है। राजधानी लखनऊ का चाहे मनकामेश्वर मंदिर, हनुमान सेतु, अलीगंज के हनुमान मन्दिरों से लेकर खम्मन पीर और दादा मियॉ की मजार पर हिन्दु मुसलमान जा कर फरियाद करते है। कि सदा वह उनपर अपनी छाया बनाए रखे। जिसके लिए वह वहां प्रार्थना करने जाते है। पर इन मिथकों को तोड़ता एक ऐसा दरबार है जहॉ कलकत्ता की काली, अजमेर के ख्वाजा, काल भैरव के साथ हजारों जिन्नों और प्रेतों के दर्शन एक साथ मिल जाते है।

इस दरबार में एक साथ मजार और मन्दिर दोनों है जिन्होनें भक्तों की मनचाही मुरादे पूरी की है। इस दरबार में एक तरफ हरे रंग से रंगी मजार पर जिन्नात बोलतें है और दूसरी तरफ मॉ काली के साथ भैरव और प्रेत जवाब देते है। मुसलमान यहॉ जितनी अकीदत से दुआ मांगते है वहीं हिन्दु प्रार्थना कर माथा टेकते है। आज के वैज्ञानिक युग में ऐसे स्थान और जाने वाले भक्तों के अनुभव जान कर न केवल हैरानी होती है बल्की आश्चर्य भी होता है। बाबा सोनकर के दरबार में गुरुवार देर रात तक ईद मिलन का आयोजन चला जिसमें सैकड़ो हिन्दु मुसलमान भक्तों ने अपना अपना माथा टेका और मुरादे मांगने के साथ बाबा का प्रसाद ग्रहण किया। जहां प्रसाद के रूप में हिन्दुओं के लिए जहॉ पूड़ी सब्जी का प्रसाद बंटा गया तो मुस्लिम समाज के लिए बिरयानी वितरित की गयी।

सोनकर बाबा के दरबार में आए अशफाक अहमद दम्पति ने बताया कि वह हर जगह से निराश हो चुके थे पर बाबा के दरबार में आते ही उन्हे रुहानी ताकत का अहसास हुआ और अचानक समस्याओं का अन्त होने लगा। दीपू धानुक ने बताया कि बाबा के दरबार में आते ही पुत्र की प्राप्ती हुई और जीवन सुखमय बन गया। भक्तों ने जब अपने अनुभव शेयर करने शुरू किए तो लोगों का तांता लग गया, किसी को मुकदमे से मुक्ति मिली तो किसी का ऊपरी साया समाप्त हो गया, किसी को नौकरी मिली तो किसी को प्रमोशन इस दरबार से मिला। सोनकर बाबा के दरबार से फालिस, किडनी फेल, पागलपन जैसे रोग ठीक हो गए और कानूनी मामले हल होने के साथ ऊपरी ताकतों का भी विनाश हो रहा है। बिना बच्चेदानी वाली महिलाओं को संतान प्राप्ती हुई है और कई मामलों में सालों बाद लोगों को संतान मिली है।


भक्तों से मिलने और दरबार का नजारा देखने के बाद संवाददाताओं ने रुख किया सोनकर बाबा की ओर। संजय सोनकर उर्फ अब्दुला भाई के नाम से मशहूर बाबा ने जीवन की परते उधेडते हुए बताया कि बचपन में माता जी मॉ काली और अजमेर के ख्वाजा की पूजा करती थी तभी से पूजा अर्चना का रुझान बढ़ गया। ग्यारह साल की उम्र में भाई की पिटाई से त्रस्त हो कर कलकत्ता चले गए और वहॉ होटलों में बरतन धो कर मॉ काली की आराधना करते रहे। लगभग दस वर्षो बाद संजय राजधानी वापस आए और अमीनाबाद में काम करने लगे। संजय सोनकर बतातें है कि काम कुछ भी किया पर पूजा पाठ कभी नहीं छूटा। सन् 1992-93 में ऊपरवालें ने इच्छा पूरी की और एलडीए कालोनी, कानपुर रोड़ पर पराग डेरी में रतन समोसे वाली गली में मकान आवंटित हो गया जहॉ आज ये दरबार सजा है। मजार और मन्दिर एक ही जगह होने की बात का जवाब देते हुए कहा कि यहॉ कलकत्ता की मॉ काली, मीरा सय्यैद हुसैन, भैरव के साथ मरघट के 200 औघड़, 2.84 लाख जिन्नात रहते है और पीर बाबा कहते है पहले देवी को सलाम करों और देवी कहती है पहले पीर बाबा की पूजा करों।

नमाज अदा करने के साथ आरती करने वाले सोनकर बाबा किसी अजूबे से कम नहीं जान पड़ते है जब हिन्दु उन्हे सोनकर बाबा कह कर चरण स्पर्श करते है और मुसलमान अब्दुला भाई कह कर सलाम करते है। बाबा के दरबार में सेवा निरूशुल्क है और जिसकी जो मर्जी होती है वह चढ़ावा चढ़ाता है। दरबार की एक ओर खासियत ये है कि यहॉ आने वाले भक्तजन स्वयं मजहबी भेदभाव भुला कर सबका मालिक एक होने की बाते करने लगते है।



अन्य प्रमुख खबरे

जानिए, सावन के महीने में नई शादीशुदा महिलाएं क्यों चली जाती हैं मायके

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सावन का महीना शुरू हो चुका है

अमरनाथ यात्राः जानिए, पवित्र गुफा का इतिहास और अमरत्व का रहस्य

इंडिया इमोशन्स न्यूज जम्मू-कश्मीर में श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा की महिमा निराली है

जानें, दीपक कब और कहां जलाने से होते हैं कौनसे फायदे

इंडिया इमोशन्स न्यूज भगवान की पूजा-आराधना करते समय अक्सर हम लोग पूजा की थाली में कपूर और दीपक जलाते हैं

माता सीता ने बताया, इस चमत्कारी मंत्र से मिलेगा मनचाहा Life partner

इंडिया इमोशंस न्यूज हिंदू धर्म ग्रथों में एेसे कई श्लोक दोहे तथा चौपाइयों आदि हैं जिन्हें मंत्र के रूप में प्रयोग किया जाता

अमीरों को भी कंगाल बना देते हैं ये काम

इंडिया इमोशन्स न्यूज भारत के महान विद्वानों में गिने जाने वाले महात्मा विदुर महाभारत के महत्वपूर्ण पात्रों में से एक हैं

जानें, दुनियां का सबसे बड़ा दानवीर कौन

इंडिया इमोशन्स न्यूज दान तन, मन, धन से होता है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि धन होने से दान हो

चमकता सफेद पत्थर, एक रात में दिखाएगा कमाल

इंडिया इमोशन्स न्यूज घर की रसोई में बहुत सारी ऐसी चीजें होती हैं, जिनमें कमाल के गुण होते हैं

परशुराम जयंती: जानें भगवान के छठे अवतार की वीरगाथा

इंडिया इमोशन्स न्यूज समस्त सनातन जगत के आराध्य भगवान विष्णु जी के छठे अवतार भृगुकुल तिलक, अजर, अमर, अविनाशी, अष्ट चिरंजीवियों

फिर गूजेंगी शहनाइयां,18 अप्रैल से शुरू होंगे शादी के मुहूर्त

इंडिया इमोशन्स न्यूज शहर में शादी समारोह की दावतें फिर शुरू हाेने जा रही हैं। एक महीने बाद फिर से शहनाइयां गूजेंगी

देशभर में आज मनाई जा रही है हनुमान जंयती, मंदिरों में लगा भक्तों का तांता

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली। देशभर में आज हनुमान जयंती बड़ी ही धूमधाम से मनाई जा रही है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार