•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता का आनंद सिंह बिष्ट का निधन

Apr 20 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता का आनंद सिंह बिष्ट का निधन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)

India Emotions news network, Lucknow. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज निधन हो गया. उन्होंने आज यानी सोमवार सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर अंतिम सांस ली. 89 साल के आनंद सिंह बिष्ट का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा था और उनकी हालत गंभीर थी. वह पिछले कई दिनों से वेंटिलेटर पर थे.

सीएम योगी आदित्यनाथ को पिता के निधन की सूचना दे दी गई है. खास बात है कि जब यह खबर सीएम योगी को दी गई, तब वह कोरोना संकट पर बनी टीम-11 की मीटिंग कर रहे थे. खबर मिलने के बाद मीटिंग को रोका गया.

सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट को किडनी और लिवर की समस्या थी. तबीयत खराब होने पर उन्हें 13 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था. यहां गेस्ट्रो विभाग के डॉक्टर विनीत आहूजा की टीम उनका इलाज कर रही थी. आज दोपहर 10 बजकर 40 मिनट पर उनका निधन हो गया.

सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह उत्तराखंड के यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते हैं. वे उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हो गए थे. उसके बाद से ही वे अपने गांव में रह रहे हैं.

योगी आदित्यनाथ बचपन में ही अपना परिवार छोड़कर गोरखपुर महंत अवेद्यनाथ के पास चले आए थे. बाद में योगी आदित्यनाथ ने महंत के रूप में अवेद्यनाथ की जगह ली. उत्तराखंड में चुनाव के समय योगी कई बार वहां चुनाव प्रचार के सिलसिले में जाते रहे हैं. इस दौरान उनके परिवार वाले योगी से मिलते हैं.

सीएम योगी आदित्यनाथ की अपने पिता आनंद सिंह बिष्ट से ज्यादा मुलाकात नहीं होती थी. मुख्यमंत्री बनने के बाद सीएम योगी एक कार्यक्रम के सिलसिले में बिजनौर गए थे. आयोजकों ने उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट को कार्यक्रम का आमंत्रण भेजा था. आनंद सिंह अपने पोते अविनाश मोहन बिष्ट के साथ कार्यक्रम में आए थे. इस दौरान सीएम आदित्यनाथ ने पिता का शाल ओढ़ाकर स्वागत किया. दोनों भावुक हो गए थे.

पिता के निधन के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी इच्छा थी कि अंतिम बार पिता के दर्शन करूं, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन है, ऐसे में मुख्यमंत्री ने अपील की है की है कि अंतिम संस्कार में कम से कम लोग इकट्ठा हों। दरअसल आशंका जताई जा रही है कि मुख्यमंत्री के पिता के अंतिम संस्कार में भारी भीड़ जमा हो सकती है, इसी वजह से मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि अंतिम संस्कार में कम से कम लोग इकट्ठा हों।