समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का औपचारिक झंडा जारी, शिवपाल के साथ नेताजी को भी मिली जगह | रेवाडी दुष्कर्म: घटना साजिश का नतीजा, आरोपी 5 दिन के रिमांड पर

विस्तृत समाचार

दीपावली पर इस विशेष मुहूर्त में पूजन से होगी धनवर्षा

Posted on : Oct 29 2016


दीपावली पर इस विशेष मुहूर्त में पूजन से होगी धनवर्षा

दीपावली का सर्वश्रेष्ठ महूर्त: शाम 06 बजकर 27 मिनट से शाम 06 बजकर 39 मिनट तक। इसी समय वृषभ लग्न, गुरु की होरा, शुभ चौघडिय़ा के साथ-साथ प्रदोश काल युक्त अमावस्या तिथि रहेगी।

वृश्चिक लग्न युक्त प्रात: कालीन महूर्त: प्रात: 09 बजकर 03 मिनट से प्रत 10 बजकर 13 मिनट तक रहेगा।

दिवस कालीन महूर्त: दोपहर 01 बजकर 27 मिनट से 02 बजकर 49 मिनट तक रहेगा।

श्रेष्ठ प्रदोष काल महूर्त: शाम 5.33 से रात 08 बजकर 22 मिनट तक है।
शुभ चौघडिय़ा महूर्त: शाम 5 बजकर 33 मिनट से रात 07 बजकर 11 मिनट तक रहेगा।

अमृत चौघडिय़ा महूर्त: शाम 7 बजकर 11 मिनट से रात 08 बजकर 49 मिनट तक रहेगा।

चंचल चौघडिय़ा महूर्त: 08 बजकर 49 मिनट से रात 10 बजकर 27 मिनट तक रहेगा।

सर्वश्रेष्ठ वृषभ लग्न महूर्त: शाम 06 बजकर 27 मिनट से रात 08 बजकर 22 मिनट तक है।

अमावस्या रहित सिंह लग्न महूर्त: दिनांक 31.10.16 रात 12 बजकर 57 मिनट से रात 3 बजकर 17 मिनट तक रहेगा।

संध्याकाल में ही पूजन सर्वश्रेष्ठï-
खुशियों और रोशनी के त्योहार को धूमधाम से माने का वक्त आ गया है। यह त्योहार न केवल एक नयी शुरुआत करने का है बल्कि धन-दौलत और अच्चदे स्वासथ्य को साधने का भी है। इस दौरान शुळा और अशुभ मुहूर्त का विशेष ख्याल रखना होता है। शास्त्रों में दीपावली पर्व पर देवी महालक्ष्मी का पूजन कार्तिक कृ्ष्ण पक्ष की अमावस्या में प्रदोष काल में करने का विधान है। इसके साथ ही ज्योतिषशास्त्र के महूर्त खंड अनुसार दीपावली पर लक्ष्मी का आवाहन और पूजन स्थिर लग्न में करना श्रेष्ठ माना गया है। धन की देवी महालक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए दीपावली पूजन विशेष रुप से शुभ माना जाता है। धन की अधिष्ठात्री देवी महालक्ष्मी का पूजन प्रदोष काल संध्याकाल में करना चाहिए। लक्ष्मी उपासना का यही मुख्य समय माना गया है। संध्या काल में दीप प्रज्ज्वलित कर लक्ष्मी पूजन करने का उत्तम समय है। अमावस्या अंधकार की रात्रि है। अमावस्या अंधकार की रात्रि है। माता लक्ष्मी को समस्त संसार व चराचर को आलौकिक करने वाली देवी माना गया है।

पूजा के विधि-विधान-
रविवार दिनांक 30.अक्टूबर को दीपावली पर्व मनाया जाएगा। इस दिन प्रात: 09 बजकर 03 मिनट तक चित्रा नक्षत्र रहेगा इसके बाद अगले दिन सुबह तक स्वाती नक्षत्र है। इस दिन प्रीति योग रहेगा तथा चन्दमा तुला राशि में गोचर करेगा। अमावस्या तिथि रात 23 बजकर 08 मिनट तक रहेगी। दीपावली में अमावस्या तिथि, प्रदोष काल, शुभ लग्न व चौघाडिया मुहूर्त विशेष महत्व रखते हैं। दिपावली व्यापारियों, क्रय-विक्रय करने वालों के लिए विशेष रुप से शुभ मानी जाती है। दीपावली पर राजधानी क्षेत्र दिल्ली में सूर्यास्त 17.33 पर रहेगा अत: शाम 5 बजकर 33 से रात 08 बजकर 22 मिनट तक प्रदोष काल रहेगा। प्रदोष काल व स्थिर लग्न दोनों तथा इसके साथ शुभ चौघडिया भी रहने से मुहुर्त की शुभता में वृद्धि होती है। धनलक्ष्मी का पूजन व आहवाहन, गल्ले की पूजा तथा हवन इत्यादि कार्य सम्पूर्ण करना चाहिए। इसके अतिरिक्त समय का प्रयोग श्री महालक्ष्मी पूजन, महाकाली पूजन, लेखनी, कुबेर पूजन, अन्य मंत्रों का जपानुष्ठान करना चाहिए।

-पं. नीरज अग्निहोत्री, वाराणसी



अन्य प्रमुख खबरे

बिगड़ी हुई किस्मत को संवारने के लिए आजमाएं ये आसान तरीके

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आपका कोई भी काम अच्छा नहीं चल रहा

असफलता का एक मुख्य कारण भी होता है वास्तु, ऐसे करें दूर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ कई बार हम देखते है कि इंसान बहुत मेहनत करने के बाद भी उसे सफलता नहीं मिलती है

सुबह-सुबह करें ये काम, धन की नहीं होगी कमी-परिवार रहेगा खुशहाल

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हिन्दु धर्म के अनुसार, इंसान चाहे कितना भी देर से सोए, लेकिन सुबह जल्दी उठना ही चाहिए

...तो क्या सुंदर स्त्रियों से इसलिए नहीं करना चाहिए विवाह, जानिए क्या है वजह

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आज के समय में ज्यादातर पुरुष विवाह के लिए सुंदर स्त्रियों को अधिक महत्व देते हैं

आपकी किस्मत में सरकारी नौकरी है या नहीं ये रेखाएं खोलती है राज...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ इंसान की कुंडली या हस्तरेखा में उसके राज छुपे होते है

सोते समय सिरहाने नहीं रखें ये 5 चीजें, वरना हो जाएंगे बरबाद

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सोते समय अक्सीर हम मैगजीन, अखबार, मोबाइल, पर्स आदि चीजों को सिरहाने रख देते हैं लेकिन धार्मिक ग्रंथों के

दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने के लिए रोटी ऐसे बनेगी माध्यम

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ व्यापार में मंदी और नौकरी में परेशानी को दूर करने के लिए चार मीठी रोटी बनाकर उसमें अच्छेद से घी भरें और

जन्माष्टमी के दिन करेंगे ये काम, तो नहीं रहेगी धन-दौलत की कमी

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ भादौ महीने के कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि की को जन्माष्टी का त्यौहार मनाया जाता है

पर्स में भूलकर भी ना रखें चाबी, जानिए होता है क्या

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ पर्स पुरुषों और महिलाओं के जरूरत की चीजों में सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं

मरने से पहले परछाई भी छोड देती साथ, जानिए-मौत से पहले के संकेत

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ अक्सर कहा जाता है कि इंसान ने जन्म लिया है तो उसकी मृत्यु भी निश्चित है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार