पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक का श्रेय किसी को नहीं लेना चाहिए : गडकरी

विस्तृत समाचार

शाारीरिक संबध बनाने का सही वक्त और लक्ष्य के बारे में जानिये

Posted on : May 08 2017


शाारीरिक संबध बनाने का सही वक्त और लक्ष्य के बारे में जानिये

इंडिया इमोशंस टिप्स डेस्क, नोयडा। रतिक्रिया करने का उद्देश्य धर्म शास्रों के अनुसार संतान उत्पत्ति ही है। आज के मनुष्य के लिए भले ही यह आनंद का भी माध्यम हो, लेकिन शास्त्र इसे गृहस्थी बढ़ाने से ही अधिक जोड़ते हैं। शारीरिक संबंध बनाने के लिए सर्वोत्तम समय बह्म मुहूर्त के प्रहर से पहले यानि सुबह 3 बजे से पहले, का ही ठीक माना जाता है। शास्त्रों में शारीरिक आकर्षण एवं संभोग जैसी बातों का जिक्र आप पा सकते हैं। शारीरिक आकर्षण पति-पत्नी के बीच हो या अनजान स्त्री-पुरुष के बीच, हर तरह के संबंध के साक्षी रहे हैं हिन्दू शास्त्र। पति-पत्नी को कब शारीरिक संबंध स्थापित करने चाहिए एवं कब नहीं, इस बात का उल्लेख भी शास्त्रों में किया गया है। इससे संबंधित जानकारी मनुष्य ब्रह्मवैवर्त पुराण में पा सकता है।

शास्त्रों के अनुसार रात 12 बजे बाद अगला दिन शुरु हो जाता है तथा ब्रह्मबेला से ठीक पहले वाला समय आरंभ हो जाता है। ऐसे समय पर व्यक्ति की मानसिक तथा आध्यात्मिक शक्तियां जागृत हो जाती हैं। इसीलिए मध्यरात्रि के एक प्रहर बाद से ब्रहम मुहूर्त आरम्भ हो जाता है। ऐसे समय में व्यक्ति को अध्ययन, मनन, ध्यान तथा भगवान की पूजा-पाठ जैसे कार्य करने चाहिए। कोई नई योजना बनानी हो तो भी उसके लिए यह समय बहुत उपयुक्त है। परन्तु इस समय भूल कर भी शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए

अन्यथा पुरुषत्व की हानि होने के साथ-साथ व्यक्ति का बुरा समय आरंभ हो जाता है। लोगों में यह आम मत पाया गया है कि धार्मिक होना और गृहस्थी बढ़ाना, दो अलग-अलग बातें हैं। एक व्यक्ति इन दोनों पहलुओं को अपने जीवन पर पूर्ण रूप से अमल नहीं कर सकता है। लेकिन ऐसा नहीं है। हमारे शास्त्र जीवन के दोनों पहलुओं को इंसान के लिए अहम मानते हैं। कामशास्त्र ग्रंथ एवं खजुराहो मंदिर इस बात के प्रतीक हैं कि भगवान के नाम के साथ-साथ व्यक्ति के लिए अपना परिवार एवं वंश आगे बढ़ाना भी जरूरी है।



अन्य प्रमुख खबरे

खुद से बड़ी उम्र की लड़कियों के दीवाने हो जाते हैं लड़के, ये है वजह

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ बदलते जमाने में प्यार करने के अंदाज में भी काफी बदलाव आएं हैं और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है लड़कों का अपनी

ऐसे पता करें, आपको हो गया हैं प्यार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ प्यार अलग-अलग प्रकार का होता है और यह जानने का कोई एक भी तरीका नही है

पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से हो सकता है ऐसा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आप ज्यादातर रात्रि पाली में काम करते हैं? पर्याप्त नींद की कमी और रात्रि में जागने से मानव डीएनए की

मकर संक्रांति 2019 : खिचड़ी का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

इंडिया इमोशंस न्यूज मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है, जो सूर्य के उत्तरायण होने पर

सर्दी में इसलिए झडते हैं ज्यादा बाल, ये है कारण...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नई दिल्ली

New Year 2019: समझें कैलेंडर का पूरा विज्ञान, क्यों बदलते हैं हर साल कैलेंडर

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता

ऐसी महिलाएं भी हो सकती हैं डायबिटीज व दिल के दौरे की शिकार

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ आम तौर पर मोटापे को बीमारियों की जड़ माना जाता है। खास तौर से महिलाओं के लिए यह ज्यादा घातक होता है

चेहरे पर सुबह-सुबह क्यों आती है सूजन, जानिए क्या है कारण

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ अक्सर सुबह कभी कभी उठकर चेहरे को आईने में देखने पर सूजन दिखाई देता है

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार