•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

देवउठनी एकादशी पर भूलकर भी न करें ये काम

Nov 08 2019

देवउठनी एकादशी पर भूलकर भी न करें ये काम

इंडिया इमोशंस न्यूज हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत का बहुत महत्व है। प्रत्‍येक वर्ष कार्तिक मास के शुक्‍ल पक्ष की एकादशी मनाई जाती है। मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु लंबी निद्रा के बाद जागते हैं। ऐसे में इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ भगवान विष्णु जी की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन कुछ बातों का खास ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है ताकि आपको इस पूजा का फल दोगुना होकर मिल सके। तो चलिए आज जानते हैं तुलसी विवाह से जुड़े कुछ खास टिप्स जिनका आपको इस पूजा के दौरान विशेष ध्यान रखना है..

घर में अंधेरा
जैसा कि आप जानते हैं यह पूजा पूरे दो दिन चलेगी, तो इस दौरान घर में पूरी तरह अंधेरा न होने दें। कोशिश करें कि इस रात घर के किसी कोने में अंधेरा न हो। ऐसा होने से घर की सुख-स्मृद्धि में बढ़ावा होगा।

तुलसी का पत्ता
एकादशी के इस खास मौके पर तुलसी का पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए। इस दिन तुलसी का पत्ता तोड़ने से भगवान विष्णु नाराज हो सकते हैं। इस दिन आपको तुलसी माता को चुनरी ओढ़ानी चाहिए साथ ही पौधे के नीचे पूरे दो दिन तक दीपक जलता रहना चाहिए।

तामसिक भोजन
तुलसी विवाह के दिन प्याज, लहसुन, मांस, अंडा जैसे तामसिक भोजन का सेवन न करें। ऐसा करने से आप भगवान यमराज के कठोर दंड के भागीदार बनते हैं।

चावल से बने पदार्थ
मान्यता है कि तुलसी विवाह के दिन चावल खाने से अगले जन्म में अगले जन्म में व्यक्ति रेंगने वाले जीव की योनि में पड़ता है। तुलसी मां को भोग लगाते वक्त आप चावल की खीर बना सकते हैं, मगर खुद आपको चावल नहीं खाने।

बुजुर्गों का आदर
एकादशी के दिन जितना हो सके बड़े बुजुर्गों का आदर करें। इस दिन जितना हो सके घर में शांति व प्यार भरा माहौल बनाए रखें। ऐसा करने से भगवान विष्णु की कृपा आप पर सदा बनी रहेगी।

कम सोएं
एकादशी का यह दिन जितना हो सके पूजा-पाठ करके बिताएं। इस दिन ज्यादा सोने से परहेज करें। इस दिन सुबह उठकर भगवान का नाम लें और उनके मंत्रों का जप करें। अगर व्रत ना कर पाएं तो कम से कम भगवान विष्णु की पूजा जरूर करें।

नशीली चीजें
नशीली चीजों के सेवन से व्यक्ति अपनी समझ खो बैठता है। ऐसा इंसान भगवान विष्णु को बिल्कुल नहीं पसंद। ऐसे में पूजा वाले दिन घर में किसी तरह की नशीली चीज को लेकर भी न आएं।