•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

पावर कार्पोरेषन का पीएफ घोटाला: ऊर्जा मंत्री अपना दामन पाक साफ दिखाने की नाकाम कोषिष कर रहे हैं: रालोद

Nov 07 2019

पावर कार्पोरेषन का पीएफ घोटाला: ऊर्जा मंत्री अपना दामन पाक साफ दिखाने की नाकाम कोषिष कर रहे हैं: रालोद

indiaemotions news network. लखनऊ । राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेष प्रवक्ता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी ने पावर कार्पोरेषन विभाग के पीएफ घोटाले में प्रदेष सरकार की संलिप्तता उजागर करते हुये कहा कि ऊर्जा मंत्री अपना दामन पाक साफ दिखाने की नाकाम कोषिष कर रहे हैं क्योंकि यदि मान भी लिया जाय कि नई सरकार के गठन के पूर्व ही तत्कालीन एम0डी0 द्वारा 21 करोड का आर0टी0जी0एस0 कर दिया गया था फिर भी उनका स्वयं और प्रदेष सरकार का दामन साफ नहीं हो सकता है।


श्री त्रिवेदी ने कहा कि नई सरकार के गठन होते ही सभी विभागों के मंत्रियों ने मुख्यमंत्री के समक्ष विभागीय प्रजेन्टेषन रखा था। क्या प्रेजेन्टेषन रखते समय यह छिपा लिया गया कि 21 करोड का भुगतान डी0एच0एफ0एल0 को करने में तत्कालीन एम0डी0 ने सारे नियम ताक पर रख दिए थे अथवा जानबुझकर इस तथ्य की अनदेखी किसी स्वार्थवष की गई।

भाजपा सरकार के गठन बाद एम0डी0 के पूर्व सरकार द्वारा दिये गये सेवा विस्तार को तो खत्म कर दिया गया परन्तु डी0एच0एफ0एल0 को निरन्तर भुगतान होता रहा जिसको समाप्त करने अथवा पूर्व में किये गये भुगतान का लेखा जोखा समझने तक रोक भी नहीं लगाई गई और न ही किसी प्रकार की जानकारी कर्मचारियों को दी गई जिनके खून पसीने की कमाई की लूट भाजपा शासन में की गई।


रालोद प्रदेष प्रवक्ता ने कहा कि पाॅवर कार्पोरेषन के वर्तमान चेयरमैन को भी गिरफ्तार करने की आवष्यकता है क्योंकि वह ट्रस्ट के अध्यक्ष भी हैं और उनकी संलिप्तता के बिना इतना बड़ा घोटाला सम्भव नहीं है।

यदि उन्हें पद पर बनाये रखा जाता है तो सबूतों से छेड़छाड़ सम्भव है और निष्पक्ष जांच की खानापूरी ही होगी। उन्होंने प्रदेष के मुख्यमंत्री से मांग करते हुये कहा कि तत्काल ऊर्जा मंत्री को बर्खास्त करके उन्हें दण्डित करने के साथ साथ विद्युत कर्मचारियों की समस्त धनराषि की गारण्टी दे ताकि उनका मानसिक संतुलन हो सके।

सरकार द्वारा सम्पूर्ण घटना पर श्वेत पत्र भी जारी किया जाय ताकि तिथिवार विवरण की जानकारी हो सके।