1984 सिख विरोधी दंगों के दोषी यशपाल को फांसी, नरेश को उम्रकैद | दिल्ली सचिवालय में CM केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला | सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव

विस्तृत समाचार

प्रवचन: बाबा गुरुबचन सिंह जी ने दशकों पूर्व नशाबंदी, आडम्बर रहित शादियों का प्रचालन शुरू किया

Posted on : Apr 25 2017


प्रवचन: बाबा गुरुबचन सिंह जी ने दशकों पूर्व नशाबंदी, आडम्बर रहित शादियों का प्रचालन शुरू किया

इंडिया इमोशंस न्यूज नेटवर्क, लखनऊ। समापन आशीर्वचनो में महात्मा नोतन दास जी ने कहा की बाबा गुरुबचन सिंह जी के आदेशो-उपदेशों को अपने जीवन में उतारना ही उनको सच्ची श्रद्धांजलि है। बाबा जी ने दशकों पूर्व ही समाज की ज्वलन्त समस्या जैसे नशा बंदी व दहेज प्रथा को समाप्त करने का आवाहन किया था, उन्होंने दिखावे व आडम्बर रहित सादा शादियों का प्रचालन शुरू किया जो निरंकारी जगत में आज भी लागू है।

उन्होंने आगे कहा कि बाबा गुरुबचन सिंह जी इस मिशन के सिद्धांतों और सत्य की आवाज को जन-जन तक पहुंचाने का अभियान चला रहे थे तो उनका यह कार्य कुछ संकीर्ण विचार धारा वाले लोगों को पसंद नहीं आया। उन्होंने इकठा उनका विरोध करना शुरू कर दिया परन्तु ब्रह्मानुभूति के माध्यम से परस्पर प्रेम, दया, सहनशीलता, शांति, भाईचारा जैसे दिव्य गुणों से युक्त समाज को स्थापित करने का उनका अभियान अनवरत जारी रहा। विश्व बंधुत्व की विचारधारा को साकार रूप देने के लिए वो सत्य की आवाज को दूर देशों तक ले गये।

सन्त निरंकारी मण्डल एशाखा लखनऊ द्वारा स्थानीय सन्त निरंकारी सत्संग भवन श्रींगार नगर लखनऊ में मानव एकता दिवस के अवसर पर एक विशाल सत्संग समारोह का आयोजन संयोजक महात्मा नोतन दास जी की अध्यक्षता में किया गया। सत्संग में हजारों की संख्या में अनुयाइयों ने प्रतिभाग किया।

उल्लेखनीय है की 24 अप्रैल 1980 को सद्गुरू बाबा गुरुबचन सिंह जी महाराज तथा उनके अंगरक्षक चाचा प्रताप सिंह जी ने सत्य के मार्ग पर चलते हुए अपनी शहादत दी थी। तभी से अपने प्राणों की परवाह न करते हुए सत्य मार्ग पर बलिदान होने वाले सन्तो महापुरषों की स्मृति में मानव एकता दिवस का आयोजन कर उनको श्रध्दा सुमन अर्पित किये जाते है।

सत्संग समारोह को अनेक बुधि जीवी महात्माओं व संतो ने संबोधित कर बाबा गुरुबचन सिंह जी के जीवन के प्रेरक प्रसंगों को सत्संग से साँझा किया। प्रमुख वक्ताओं में सर्व पी एस उदासी, पीके तनेज, विपिन हरजाई, निर्मल कौर तथा मालवीय जी आदि थे।



अन्य प्रमुख खबरे

इन पत्तों से करें गणेशजी की पूजा, सफल होंगे हर अधूरे काम...

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार, किसी भी शुभ काम के करने से पहले गणेश पूजन आवश्यक हैं

तो इसलिए महिलाएं छलनी से देखती हैं पति का चेहरा

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ करवा चौथ का त्योहार पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, प्यार और विश्वास का प्रतीक है

शंख को इस जगह रखने से होता है लाभ, जानिए शंख के फायदे

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ हिंदू धर्म में शंख का बहुत महत्व होता है

जानें, कब से शुरू होंगे नवरात्र

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ नवरात्र के नौ दिन मां दुर्गा के नव रूपों की पूजा होती है

जानिए, सावन के महीने में नई शादीशुदा महिलाएं क्यों चली जाती हैं मायके

इंडिया इमोशन्स न्यूज़ सावन का महीना शुरू हो चुका है

अमरनाथ यात्राः जानिए, पवित्र गुफा का इतिहास और अमरत्व का रहस्य

इंडिया इमोशन्स न्यूज जम्मू-कश्मीर में श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा की महिमा निराली है

जानें, दीपक कब और कहां जलाने से होते हैं कौनसे फायदे

इंडिया इमोशन्स न्यूज भगवान की पूजा-आराधना करते समय अक्सर हम लोग पूजा की थाली में कपूर और दीपक जलाते हैं

माता सीता ने बताया, इस चमत्कारी मंत्र से मिलेगा मनचाहा Life partner

इंडिया इमोशंस न्यूज हिंदू धर्म ग्रथों में एेसे कई श्लोक दोहे तथा चौपाइयों आदि हैं जिन्हें मंत्र के रूप में प्रयोग किया जाता

अमीरों को भी कंगाल बना देते हैं ये काम

इंडिया इमोशन्स न्यूज भारत के महान विद्वानों में गिने जाने वाले महात्मा विदुर महाभारत के महत्वपूर्ण पात्रों में से एक हैं

जानें, दुनियां का सबसे बड़ा दानवीर कौन

इंडिया इमोशन्स न्यूज दान तन, मन, धन से होता है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि धन होने से दान हो

लखनऊ समाचार

सेहत समाचार

बिज़नेस समाचार

धर्म संसार समाचार