•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

अंधेरे में स्‍मार्टफोन पर काफी देर तक टिकी रहती है आपकी नजर तो पढ़ें ये खबर

Nov 04 2019

अंधेरे में स्‍मार्टफोन पर काफी देर तक टिकी रहती है आपकी नजर तो पढ़ें ये खबर

इंडिया इमोशंस न्यूज कभी कहा जाता था कि दूरदर्शन से रहिए एक मीटर दूर, आंखें रहेंगी दुरुस्‍त. तब दूरदर्शन का मतलब टेलीविजन होता था. टीवी की नीली रोशनी (Blue Rays) हमारे आंखों के लिए बेहद घातक है. अब उससे ज्‍यादा घातक मोबाइल फोन की रोशनी है . मोबाइल अब हमारे जीवन का हिस्‍सा है. टीवी की पहुंच तो केवल ड्राइंग रूम तक थी, लेकिन मोबाइल की पहुंच अब बिस्‍तर तक है. हम घंटों अंधेरे में स्‍मार्टफोन (Smartphone) देखते रहते हैं और इसकी लत की वजह से आई स्ट्रोक (Eye Stroke) का खतरा बढ़ गया है.

अंधेरे में स्‍मार्टफोन (Smartphone) देखने की लत बड़ों ही नहीं बच्‍चों को भी काफी नुकसान पहुंचाता है. चीन के डॉक्टरों ने दावा किया है कि इससे आई स्ट्रोक (Eye Stroke) और बच्चों में आंखें टेढ़ी होने का खतरा बढ़ जाता है. बता दें चीन के एक व्यक्ति की आंखों की रोशनी स्‍मार्टफोन (Smartphone) देखने की लत के कारण चली गई.

चीन के शानजी प्रांत के डॉक्टरों के मुताबिक रात को सोने के वक्त देर तक स्‍मार्टफोन (Smartphone) देखने की वजह से वांग नाम के एक व्यक्ति को आई स्ट्रोक (Eye Stroke) हुआ और एक झटके में ही उसकी आंखों की रोशनी चली गई. वांग को अंधेरे में देर तक स्‍मार्टफोन (Smartphone) पर वीडियो गेम खेलने की आदत थी.

क्‍या है आई स्ट्रोक (Eye Stroke)

वांग में सेंट्रल रेटिनल आर्टिओकक्लूशन नामक बीमारी की पहचान की जिसे आई स्ट्रोक (Eye Stroke) भी कहा जाता है. आई स्ट्रोक (Eye Stroke) दिमाग में होने वाले स्ट्रोक की तरह ही जब रेटिना तक पहुंचने वाले रक्त का प्रवाह रुक जाता है तब आई स्ट्रोक (Eye Stroke) होता है. इस बीमारी से दुनियाभर में दो करोड़ से ज्यादा लोग पीड़ित हैं. जबकि अमेरिकी डॉक्टरों की राय इससे जुदा है. उनका मानना है कि वांग को ओकक्युलर माइग्रेन का दौरा पड़ा होगा, जिससे अस्थायी तौर पर उसकी दृष्टि चली गई. ऐसा रेटिना या आंखों के पीछे के हिस्से में मरोड़ की वजह से होता है.


वांग ने डॉक्‍टरों को जो कुछ बताया उसके मुताबिक वह अपनी दाईं आंख का इस्तेमाल अपने फोन को देखने के लिए कर रहा था. उसे कुछ शब्द दिखाई दे रहे थे और कुछ दिखाई नहीं दे रहे थे. वांग ने माना कि उसे रात को अंधेरे में लंबे समय तक स्‍मार्टफोन (Smartphone) पर वीडियो गेम खेलने की लत थी.

आई स्ट्रोक (Eye Stroke) के लक्षण और प्रभाव

आई स्ट्रोक (Eye Stroke) से दृष्टि काफी कमजोर हो जाती है या फिर दिखना पूरी तरह से बंद हो जाता है.
मोबाइल फोन, टैब और लैपटॉप पर नजरें गड़ाए रहने से बच्चों की आंखों पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है.
बच्चों की दूर की नजर कमजोर हो रही है. लगातार नजदीक से देखने के कारण आंखों पर जोर पड़ता है
आंखों में रुखापन आ रहा है. इससे बच्चों की आंखें टेढ़ी होती जा रही हैं. चश्मे का नंबर बढ़ रहा है.