•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

ABC Technique से रुकेंगी बस दुर्घटनायें, दुर्घटनाओं पर लगाम करने की रणनीति

Jul 13 2019

ABC Technique से रुकेंगी बस दुर्घटनायें, दुर्घटनाओं पर लगाम करने की रणनीति
यूपी रोडवेज बस दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए अनुभवी प्रयोगों के इस्तेमाल में लगा

indiaemotions news network, लखनऊ । अब ‘एबीसी’ तकनीकी को लागू करते हुए बस दुर्घटनाओं पर ज्यादा से ज्यादा लगाम करने की रणनीति बनायी जा रही है। यमुना एक्सप्रेस वे पर हाल-फिलहाल हुए भीषण जनरथ बस हादसे के बाद यूपी रोडवेज प्रबंधन बस दुर्घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए नये और अनुभवी प्रयोगों को इस्तेमाल करने में लगा हुआ है।

अब ‘एबीसी’ तकनीकी (ABC Technique) को लागू करते हुए बस दुर्घटनाओं पर ज्यादा से ज्यादा लगाम करने की रणनीति बनायी जा रही है। इस बाबत शुक्रवार को यूपी रोडवेज के एमडी धीरज साहू ने बताया कि अब सुरक्षित बस संचालन के मद्देनजर बस, ड्राईवर, कंडक्टर और रूटों को एबीसी कैटेगरी में बांटा जायेगा। इसके कैटेगरी के कुछ मानक तय किये गये हैं और जिसके हिसाब से ही संबंधित रूटों पर चालक-परिचालक की ड्यूटी के अलावा आॅनरोड बस का संचालन शुरू किया जायेगा। साथ ही

एमडी ने यह भी कहा कि आने वाले 15 दिनों में सभी डिपो में चालकों व परिचालकों की तैनाती ‘ड्यूटी एलॉटमेंट साफ्टवेयर’ के जरिये ही सुनिश्चित की जायेगी। इसके अलावा एमडी ने यह भी कहा कि 400 किमी से ऊपर की दूरी के लिए हर स्थिति में दो चालकों की ड्यूटी लगायी जायेगी जिसकी मॉनीटरिंग नियमित रूप से करायी जायेगी।


बताया गया कि एबीसी श्रेणी के तहत चार लाख किमी से कम संचालित बसों को रखा जायेगा। इन बसों पर अनुभवी चालक और परिचालकों को लगाया जायेगा और उनकी तैनाती करते समय उनके पुराने टैÑक रिकॉर्ड को भी खंगाला जायेगा। बी कैटेगरी में चार लाख किमी से अधिक चली बसों को रखा जायेगा। इसी प्रकार सी श्रेणी में उपनगरीय और लोकल रूटों पर चलने वाली बसों को रखा जायेगा।

इसी कड़ी में एमडी ने यह भी जानकारी दी कि वृहद स्तर पर सभी डिपो और बस स्टेशनों पर खासकर चालक और परिचालकों के लिए नेत्र और स्वास्थ्य परीक्षण शिविर आयोजित किया जायेगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि इन मेडिकल परीक्षण में जो भी चालक अक्षम पाये जायेंगे, उन्हें किसी भी स्थिति में ड्यूटी पर नहीं भेजा जायेगा।