•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

जब देश खुश होता है, कांग्रेस को तकलीफ हो जाती हैं : पीएम मोदी

Oct 15 2019

जब देश खुश होता है, कांग्रेस को तकलीफ हो जाती हैं : पीएम मोदी

इंडिया इमोशंस न्यूज थाणेसर। हरियाणा में 21 अक्टूबर को होने वाले चुनाव से पहले भाजपा का तूफानी प्रचार जारी है। हर बार की तरह इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कमान संभाली हुई है। हरियाणा के दो जगहों पर सभा को संबोधित किया। हरियाणा के चरखी दादरी के बाद उन्होंने थाणेसर में रैली की।

UPDATES.......


- गीता के ज्ञान की धरती पर आने का सौभाग्य हमेशा मेरे लिए सुखद अनुभव लेकर आता है। जब आपके बीच में, मैं संगठन का कार्य देखता था तो उस समय भी कुरुक्षेत्र की इस पावन भूमि पर आना जाना लगा रहता था: प्रधानमंत्री

- आज मैं कुरुक्षेत्र ऐसे समय में आया हूं जब पूरा देश गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व मनाने की तैयारी में जुटा है। ये प्रकाश पर्व पूरे विश्व में भव्य तरीके से मनाया जाए, इसके लिए केंद्र सरकार पूरे प्रबंध कर रही है: पीएम नरेन्द्र मोदी

- मुझे खुशी है कि गुरु स्थान को जोड़ने वाला करतारपुर कोरिडोर भी अब पूरा होने वाला है। मुझे उम्मीद है कि इस बार का प्रकाश पर्व चारों तरफ खुशियां लेकर आएगा, नई उमंग लेकर आएगा: पीएम मोदी

- लोकसभा चुनाव के दौरान हमने आपसे 3 बड़े वादे किये थे - हमने कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा को हम और मजबूत करेंगे, भारत की एकता और अखंडता की भावना को नई ताकत देंगे और हमारे किसानों की आय को बढ़ाने के प्रयास तेज करेंगे: प्रधानमंत्री

- आज जब मैं यहां आया हूं तब मैं कह सकता हूं कि अब ये वादे जमीन पर उतरने शुरू हो चुके है: प्रधानमंत्री

- जब भी किसी बात को लेकर देश खुश होता है उसी बात पर कांग्रेस के नेताओं को तकलीफ हो जाती है। ये बात सिर्फ राफेल तक सीमित नहीं है। बल्कि जिस भी बात से भारत का गुणगान होता है उसमें कांग्रेस नकारात्मक ही होती है: पीएम


- देश को स्वच्छ भारत अभियान के लिए सम्मान मिलता है तो इन्हें दिक्कत होती है, दुनिया के बड़े बड़े नेता भारतीयों के कार्यक्रम में आते हैं तो इन्हें परेशानी होती है। अनुच्छेद 370 को लेकर भी ये दुनियाभर में हायतौबा मचा रहे हैं: पीएम

- जम्मू-कश्मीर में आतंक और अलगाव का दौर कितने दिन तक देश झेलेगा? कब तक वीर माताओं के वीर पुत्र तिरंगे में लिपटकर घर आते रहेंगे? कब तक शहीदों का तांता लगता रहेगा? मैं कांग्रेस के नेताओं से पूछना चाहूंगा कि कब तक ऐसा चलेगा?: पीएम


- कांग्रेस और उसके सिपहसालारों को जो भी आपत्ति हो, लेकिन भाजपा का मत स्पष्ट है। राष्ट्रहित में, हरियाणा के हित में जो भी उचित होगा उसके लिए डंके की चोट पर फैसले लेंगे: प्रधानमंत्री

- हम मानवता को लेकर आज कड़े और बड़े जनहित के फैसले ले रहे हैं। अलगाव का दौर खत्म होना ही चाहिए, नौजवानों की जिंदगी तबाह नहीं होनी चाहिए, माताओं की गोद सूनी नहीं होनी चाहिए: पीएम

- हरियाणा के लोगों ने देश को दिखाया हैं कि जन-भागीदारी कैसे सफल होती है। सरकार ने जब बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओं की शुरुआत की, तब हरियाणा ने भी देश को सामाजिक परिवर्तन दिखने की ठान ली: प्रधानमंत्री

- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में भी हमारे बाल्मीकि समाज, दलित परिवारों, पिछड़े परिवारों को उनके जायज अधिकार मिले, इसमें कांग्रेस और उसके जैसे दलों को क्या आपत्ति है?: पीएम

- कांग्रेस और उसके सिपहसलारों को जो भी आपत्ति हो, भाजपा का स्पष्ट मत है कि देशहित में जो भी उचित होगा उसके लिए डंके की चोट पर फैसले लिए जाएंगे: पीएम

- गरीबों, दलितों, पिछड़ों, वंचितों के लिए जो भी योजनाएं भाजपा ने बनाई हैं, वो उचित लाभार्थियों तक पहुंच रही है। जब सरकार पर लोगों का भरोसा होता है और जब जनता पर सरकार का भरोसा होता है, तो दोनों मिलकर काम करते हैं और कमाल करके दिखाते हैं: पीएम

- हरियाणा की यह माटी हमारे लिए सिर्फ जमीन का टुकड़ा नहीं है, इसमें हमारे किसानों का खून-पसीना मिला हुआ है । यहां 2014 से पहले जिस किसी भी दल की सरकार रही उसकी नजर पहले हरियाणा के किसान की वोट पर रहती थी और फिर वो नजर उस किसान की जमीन पर रहती थी: पीएम

- बीते 5 वर्षों में पहली बार ये हुआ है जब हरियाणा के किसानों के हितों की रक्षा के लिए सार्थक कदम उठाए गए हैं। जमीन की खरीद से जुड़े घोटाले के मूल पर यहां की भाजपा सरकार ने गहरी चोट की है। लैंड यूज में परिवर्तन का लाइसेंस अब खुली नीलामी से देना तय हुआ है: पीएम

- अंग्रेजों के जमाने से लाल डोरा की जो व्यवस्था बनी हुई थी उसे भी खत्म कर दिया गया है। हरियाणा में चलता है, पर इब ना चाल्ले: प्रधानमंत्री

- केंद्र सरकार ने किसान परिवारों के लिए जो योजनाएं बनाई हैं, उनको लागू करने में भी हरियाणा अव्वल रहा है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत हरियाणा के हर किसान परिवार को बैंक खाते में बिना किसी बिचौलिए के सीधी मदद दी जा रही है: प्रधानमंत्री

- युवाओं के सपनों को नई उड़ान देने के लिए हरियाणा में बड़े-बड़े संस्थान बन रहे हैं। आयुष यूनिवर्सिटी, वाल्मीकि यूनिवर्सिटी जैसे संस्थान यहां के गौरव को और बुलंदी देंगे और युवाओं को बेहतर अवसर मिलेंगे: पीएम

- हरियाणा में स्पोर्टस से जुड़ा आधुनिक इंफास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि हरियाणा देश के स्पोर्ट्स हब के तौर पर विकसित हो। ताकि यहां के युवा साथियों की प्रतिभा को और निखारा जा सके: प्रधानमंत्री

- हरियाणा में युवा साथियों के लिए जो काम मनोहर लाल जी ने किये हैं, वो अभूतपूर्व है। खर्ची और पर्ची से हरियाणा के माता-पिताओं को मुक्ति दिलाने का काम मनोहर लाल जी ने किया है: प्रधानमंत्री

- यहां की भाजपा सरकार ने ट्रांसफर पोस्टिंग उद्योग को जड़ से उखाड़ कर फेंक दिया है। इस इंडस्ट्री का अपना रेट कार्ड था, अपने तौर तरीके थे। इस इंडस्ट्री के खेल में भ्रष्ट नेता भी कमाते थे। अब ट्रांसफर का काम ऑनलाइन करने से ये इंडस्ट्री भी ढह गई है: पीएम

- 2014 में जब यहां भाजपा की सरकार बनी तो उस समय इज ऑफ डूइंग बिजनेस में हरियाणा 14वें स्थान पर था और आज छलांग लगाकर तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। पिछले 5 वर्षों में हरियाणा में सर्वाधिक निवेश आया है: पीएम

- मनोहर लाल जी की सरकार बनने के बाद गरीब माता-पिता, जिन्होंने मुसीबत झेल के बच्चों को पढ़ाया था, उसके बच्चों को बिना खर्ची-पर्ची के पारदर्शी तरीके से नौकरी मिली है: पीएम

- पर्यटन स्थलों को और भव्य बनाने, स्वच्छ बनाने, आधुनिक सुविधाओं के निर्माण पर सरकार बहुत निवेश कर रही है। इसी का नतीजा है कि बीते 5 वर्ष में टूरिज्म की विश्व रैंकिंग में पहले हम 65वें नंबर पर थे, आज हम 34वें नंबर पर पहुंच गए हैं: पीएम

- स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए भाजपा सरकार हर प्रयास कर रही है। टूरिज्म बढ़ाने के लिए हमारी सरकार के प्रयासों का ही असर है कि आज भारत दुनिया के लोकप्रिय पर्यटन स्थानों में से एक बनता जा रहा है: पीएम

- केंद्र सरकार का प्रयास है कि कुरुक्षेत्र जैसे महत्वपूर्ण स्थलों की चर्चा पूरी दुनिया में हो। मैं चाहूंगा जब देश के लोग परिवारों के साथ घूमने के लिए टॉप 15 जगहों की लिस्ट बनाएं तो उसमें से एक मेरा कुरुक्षेत्र भी हो: पीएम

- मैं मानता हूं कि पर्यटन को बढ़ाने में बहुत बड़ा योगदान आस्था और आध्यात्म से जुड़े पर्यटन का भी है। भारत के spiritual tourism को लेकर आज दुनिया में बहुत चर्चा हो रही है। कुरुक्षेत्र तो हमारी इस आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत का सिरमौर है: