•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

US में भारत से पटखनी खाने के बाद इमरान खान 1 साल में तीसरी बार चीन गए

Oct 08 2019

US में भारत से पटखनी खाने के बाद इमरान खान 1 साल में तीसरी बार चीन गए

इंडिया इमोशंस न्यूज इस्लामाबाद/बीजिंग: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) चीन के अपने तीसरे आधिकारिक दौरे के तहत मंगलवार को बीजिंग पहुंच गए. वे यहां चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और अपने समकक्ष ली क्यांग के साथ क्षेत्रीय और द्विपक्षीय मुद्दों पर वार्ता करेंगे. द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग में खान के पहुंचने पर उनका स्वागत चीन के संस्कृति और पर्यटन मंत्री लुओ शुगांग, चीन में पाकिस्तान के राजदूत नग्मना हाशमी और अन्य अधिकारियों ने किया.

खान के साथ पहुंचे उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडलमें विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, योजना, विकास और सुधार मंत्री खुसरो बख्तियार, निवेश बोर्ड (बीओआई) के चेयरमैन जुबैर गिलानी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी हैं. इमरान के सम्मान में शी और ली अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित करेंगे.

दोनों प्रधानमंत्रियों की बैठक के दौरान कई समझौतों और ज्ञापनों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है. खान चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरीडोर (सीपीईसी) की परियोजनाओं के विस्तार और कृषि, उद्योग और सामाजिक-आर्थिक क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा करेंगे.

उन्होंने पिछले सप्ताह कहा था कि सीपीईसी की सभी बाधाओं को हटाना और परियोजनाओं को समय से पूरा करना सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है. दोनों पक्ष चीन-पाकिस्तान फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (एफटीए) के दूसरे चरण को तत्काल लागू करने पर चर्चा करेंगे.

खान बीजिंग में चीन-पाकिस्तान बिजनेस फोरम को संबोधित कर सकते हैं और चीन के उद्यमियों के साथ-साथ विभिन्न कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात कर सकते हैं.

द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान से कुछ घंटों पहले चीन पहुंचे चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल कमर जावेद बाजवा प्रधानमंत्री ली और राष्ट्रपति शी से खान की मुलाकात के दौरान उनसे मिलेंगे. सेना प्रमुख चीन के सैन्य नेतृत्व में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी कमांडर, सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के उप चेयरमैन और साउदर्न थिएटर कमांड के कमांडर से मुलाकात करेंगे.

अगस्त 2018 में प्रधानमंत्री बनने के बाद खान की यह तीसरी चीन यात्रा है. इससे पहले वे इसी साल अप्रैल में दूसरी बेल्ट एंड रोड फोरम में शामिल होने और चीन के नेतृत्व से सीपीईसी के विस्तार पर चर्चा करने के लिए गए थे. उनकी पहली आधिकारिक चीन यात्रा नवंबर 2018 में हुई थी.

(इनपुट: एजेंसी आईएएनएस)