•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

ये 7 तरीके आपके दिल को रखेंगे बीमारी से दूर

Oct 01 2019

ये 7 तरीके आपके दिल को रखेंगे बीमारी से दूर

इंडिया इमोशंस न्यूज नई दिल्‍ली: दुनिया में हर साल 29 सितम्बर को विश्व हृदय दिवस (World Heart Day 2019) मनाया जाता है. दुनियाभर में बढ़ती दिल की बीमारी को देखते हुए वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन ने वर्ष 2000 से इस दिवस को मनाने की शुरुआत की. यह सितम्बर महीने के अंतिम रविवार को मनाया जाता है. दुनियाभर में लगभग 17.9 मिलियन लोगों की मौत हृदय रोग की वजह से होती है. इसमें 85 फीसदी मौत सिर्फ हार्ट अटैक और स्ट्रोक की वजह से होती है. हृदय रोग से 75 फीसदी मौत निम्न और मध्यम आय वाले देशों में होते हैं. WHO की रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में दिल संबंधी बीमारियों के कारण 17.7 मिलियन लोगों ने अपनी जान खो दी. इसमें से 7.4 मिलियन लोगों की कोरोनरी हार्ट बीमरियों के कारण मृत्यु हुई वही 6.7 मिलियन लोग स्ट्रोक के कारण अपनी जान गंवा बैठे. वहीं भारत में भी दिल की बीमारियों के कारण होने वाली मौतों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हाई कॉलेस्ट्रॉल, धूम्रपान एवं आनुवंशिक कारणों से दिल की बीमारियों की संभावना बढ़ रही है. अगर आप चाहते हैं कि आपका दिल मजबूत बना रहे तो ये करें...

सेहतमंद आहार लें

संतुलित और सेहतमंद आहार का सेवन करने से शरीर को सही पोषण मिलता है. जंक फूड में फैट, नमक और चीनी बहुत अधिक मात्रा में होती है, जो समय के साथ हमारे दिल को बीमार बना देती है. अक्सर लोग बिना सोचे समझे प्रोसेस्ड फूड का सेवन करते हैं क्योंकि उन्हें यह बहुत आसान लगता है, लेकिन इस तरह का भोजन हमारी सेहत के लिए अच्छा नहीं है. हमारे आहार में पर्याप्त मात्रा में कैलोरीज, प्रोटीन, विटामिन, मिनरल और लो सैचुरेटेड फैट होने चाहिए. आपकी डाइट का आधा हिस्सा फल और सब्जियों से आना चाहिए. इसमें थोड़ा हिस्सा ड्राइ-फ्रूट्स (लगभग एक मुट्ठी) जरूर हो. बाकी बचे आधे हिस्से में कार्ब (गेहूं, ब्राउन राइस, ओट्स, लोबिया आदि), प्रोटीन (दालें, दूध और दूध से बनी चीजें आदि) और फैट (देसी घी, सरसों का तेल, ऑलिव ऑयल आदि) शामिल हो. सब्जियों से मतलब हरी या पत्तेदार हरी सब्जियों से है. पनीर या आलू इसमें शामिल नहीं हैं.

गतिहीन जीवनशैली से बचें

बहुत से लोग नियमित रूप से व्यायाम नहीं करते. आज हममें से लाखों लोग ऐसी नौकरियां करते हैं, जिसके लिए उन्हें घंटों एक ही जगह पर बैठे रहना पड़ता है. व्यायाम की कमी व्यक्ति के लिए बेहद हानिकारक हो सकती है. यह मोटापे को जन्म देती है, जिसके कारण व्यक्ति धीरे धीरे डायबिटीज, हाइपरटेंशन और दिल की बीमारियों का शिकार बन जाता है.हफ्ते में कम-से-कम 80 मिनट की ब्रिस्क वॉक जरूर करें यानी अगर नियमित एक्सर्साइज नहीं कर रहे हैं तो भी हफ्ते में 4 दिन 20-20 मिनट के लिए ब्रिस्क वॉक जरूर करें.

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

व्यायाम दिल को तंदुरुस्त बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. कार्डियो व्यायाम से दिल की पम्प करने की क्षमता बढ़ती है और दिल की मांसपेशियां तंदुरुस्त बन जाती हैं. नियमित व्यायाम करने से रक्तचाप नियन्त्रण में रहता है, शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल कम होते हैं और ब्लड शुगर भी नियन्त्रित रहती है.

तनाव से बचें

तनाव आज हम सभी के जीवन का अभिन्न हिस्सा बन चुका है, खासतौर पर ज्यादातर शहरी लोग अपने काम को लेकर तनाव में रहते हैं. जब आपका शरीर तनाव में रहता है, तो इसका असर शरीर के हर अंग पर पड़ता है. तनाव के समय शरीर में एड्रिनलिन हॉर्मोन ज्यादा मात्रा में बनने लगता है, अगर ऐसा नियमित रूप से होने लगे तो दिल की बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है.हफ्ते में 2 दिन 15-15 मिनट के लिए मेडिटेशन जरूर करें. इससे ब्लड प्रेशर को काबू में रखने में मदद मिलती है.

अच्छी और गहरी नींद लें

समय की कमी के कारण बहुत से लोग अपनी नींद को कम कर काम करने लगते हैं. वे अपनी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए नींद से समझौता करते हैं जो सेहत के लिए खास तौर पर दिल के लिए खतरनाक है. 7-8 घंटे से कम नींद लेने से दिल की बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है. हफ्ते में 2 बार दिन में 20 मिनट की नैप (छोटी नींद) लेने की कोशिश करें. नैप गहन नींद की स्थिति नहीं होती बल्कि इससे मन रिलैक्स होता है. नैप तनाव कम करने में भी मददगार है.

धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें

धूम्रपान और शराब का सेवन किसी भी सेहत के लिए अच्छा नहीं है. आजकल विकासशील देशों में धूम्रपान का चलन तेजी से बढ़ रहा है. जो दिल के लिए नुकसानदायक है. यहां तक कि अगर आपके आस-पास कोई व्यक्ति धूम्रपान करता है तो वह भी आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं. धूम्रपान छोड़ने के लिए परिवार और दोस्तों के सहयोग की जरूरत होती है. इसकी आदत छोड़ने के लिए निकोटीन पैच या ई-सिगरेट का इस्तेमाल किया जा सकता है.

नियमित रूप से स्वास्थ्य की जांच कराएं

नियमित रूप से स्वास्थ्य की जांच कराकर आप दिल की बीमारियों के खतरे से बच सकते हैं. क्योंकि ऐसा करने से अगर आपको कोई समस्या है तो समय पर उसका निदान हो जाएगा और समय रहते इलाज शुरू कर बीमारी को गंभीर होने से रोका जा सकेगा. इसलिए नियमित रूप से अपनी जांच करवाते रहें और अपने स्वास्थ्य को मॉनिटर करते रहें.

दिल संबंधी बीमारी होने के लक्षण

  • सीने में असहजता दिल के दौरे के लक्षणों में से एक है. सीने में होने वाली दर्द आपको हार्ट अटैक का शिकार बना सकता है. सीने में जलन या दर्द को कभी भी नजरअंदाज न करें.
  • बिना वर्कआउट या मेहनत के थकान होना भी हार्ट अटैक के लक्षणों में से एक है. दिल को ज्यादा मेहनत की जरूरत तब होती है जब हदय धमनियां कोलेस्ट्राल के कारण बंद हो जाती है.
  • चेहरे, बांह या पैर की सुन्नता, खास तौर पर शरीर के एक ही तरफ सुन्न हो जाना
  • भ्रम, बोलने और समझने में कठिनाई
  • एक या दोनों आंखों से देखने में परेशानी होना
  • चलने में कठिनाई, चक्कर आना
  • बिना किसी वजह के सिर में तेज दर्द होना
  • बेहोश हो जाना