•   Jul / 02 / 2015 Thu 03:48:21 PM

कर्नाटक का नाटक चालू आहे... खींचतान, धरना-प्रदर्शन और फाइटिंग

Jul 11 2019

कर्नाटक का नाटक चालू आहे... खींचतान, धरना-प्रदर्शन और फाइटिंग
दो और इस्तीफों के बाद संख्या इस्तीफा देने वालों की संख्या 16 हो गई

इंडिया इमोशंस पॉलीटिकल डेस्क, नई दिल्ली/बेंगलुरु. कर्नाटक में राजनीतिक 'नाटक' चालू आहे... बुधवार को दो कांग्रेस विधायकों डॉ के सुधाकर और एम टी बी नागराज ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इसी के साथ इस्तीफा देने वाले विधायकों की संख्या अब 16 हो गई है. आज एमटीबी नागराज और डॉ के सुधाकर ने इस्तीफा सौंप दिया. इस्तीफा सौंपकर लौट रहे डॉ सुधाकर को कांग्रेस के नेताओं द्वारा खींच कर केजे जॉर्ज के कमरे में ले जाया गया. इतना ही नहीं उन पर हाथापाई भी हुई और दो घंटे तक सुधाकर को कमरे में बंद रखा गया. इसे बीजेपी ने काला दिन करार दिया है साथ ही कांग्रेस पर अपने ही विधायक पर मारपीट करने का आरोप लगाया है. इसके खिलाफ बीजेपी ने उसी कमरे के बाहर विरोध प्रदर्शन किया तो कांग्रेस ने भी बीजेपी के खिलाफ खूब नारेबाजी की.

दो इस्तीफों के बाद विधानसभा के परिसर में माहौल काफी हंगामे भरा रहा और लोकतंत्र को शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई जहां पर विधायक डॉ के सुधाकर को कांग्रेस के नेताओं ने खींचकर केजी जॉर्ज के कमरे में कैद करके रखा गया बाद में उनके साथ हाथापाई भी हुई.


मारपीट के बाद दोनों विधायकों डॉ के सुधाकर और एम टी बी नागराज को किसी अज्ञात जगह ले जाया गया है ताकि इन्हें मनाया जा सके. इस बीच बीजेपी ने उस कमरें के बाहर कांग्रेस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया तो कुछ ही देर में कांग्रेस भी बीजेपी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने पहुंची. इस बीच कर्नाटक का ये ड्रामा सड़को से विरोध प्रदर्शन की राजनीति तक पहुंच गया है.


जहां गठबंधन और बीजेपी एक दूसरे के खिलाफ प्रदर्शऩ कर रही है. बुधवार को दो इस्तीफों के बाद संख्या इस्तीफा देने वालों की संख्या 16 हो गई है और दो निर्दलीय विधायकों ने भी अपना समर्थन बीजेपी को देने का ऐलान किया है. ऐसे में अब कुमारस्वामी सरकार गिरनी तय है. दूसरी ओर स्पीकर ने भी गलत फॉर्मेट बताकर 8 विधायकों के इस्तीफों को मंजूर नहीं किया है.

वहीं सूत्रों के मुताबिक, इन 8 विधायकों ने सही फॉर्मेट ने अपने इस्तीफें स्पीकर को स्पीड पोस्ट के जरिये भेंज दिये हैं. हालांकि गुरुवार या शुक्रवार को कांग्रेस के और भी विधायक इस्तीफे दे सकते हैं. उधर 10 बागी विधायक और दो निर्दलीय विधायक मुंबई में हैं.